चिराग ने एक बार फिर PM मोदी को बताया ‘राम’ और खुद को ‘हनुमान’, जताई ये उम्मीद

पटना: चिराग पासवान लोजपा में कलह और अपनों से मिली चुनौती से जूझ रहे हैं। ऐसे में एक बार चिराग का दर्द छलका है। चिराग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘राम’ तो खुद को उनका ‘हनुमान’ बताया है। चिराग ने इस संकट की घड़ी में प्रधानमंत्री मोदी से मदद की उम्मीद की है। इससे पहले चिराग ने कहा था, ‘इस विवाद को सुलझाने में बीजेपी से मदद की अपेक्षा थी लेकिन उनकी चुप्पी ने निश्चित रूप से आहत किया है’। चिराग पासवान ने कहा, ‘मेरे परिवार के लोगों ने ही मेरी पार्टी को तोड़ने का काम किया है, फिलहाल मुझे अपनी पार्टी को शून्य से उस मुकाम पर लेकर जाना है जहां पापा पार्टी को हमेशा लेकर जाना चाहते थे।’ साथ ही चिराग ने यह भी कहा, ‘हम लोगों का पक्ष इतना मजबूत है कि मुझे इसमें कोई संदेह नहीं है कि पापा ने जो पार्टी अपने खून-पसीने से बनाई ​थी, उसका नाम और चिन्ह दोनों हमारे पास रहेंगे।’

भाजपा नीतीश के साथ या मेरे?

भाजपा की चुप्पी पर चिराग ने कहा, ‘मैंने शुरू से स्पष्ट किया कि मेरा गठबंधन BJP के साथ हुआ और मैं आज तक BJP के साथ खड़ा हूं। BJP के हर नीतिगत फैसले का मैंने समर्थन किया जबकि नीतीश जी ने इनके हर फैसले का विरोध किया। अब ये फैसला BJP को लेना है कि वो आने वाले समय में मेरा साथ देते हैं या नीतीश जी का।
”हनुमान की तरह दिया PM का साथ’
चिराग पासवान ने एक बार फिर खुद को प्रधानमंत्री मोदी का ‘हुनमान’ और प्रधामंत्री मोदी को ‘राम’ बताते हुए कहा, ‘मैंने हनुमान की तरह प्रधानमंत्री जी का हर मुश्किल दौर में साथ दिया, आज जब हनुमान का राजनीतिक वध करने का प्रयास किया जा रहा है, मैं ये विश्वास करता हूं कि ऐसे में राम खामोशी से नहीं देखेंगे.’ इससे पहले चिराग ने कहा था, ‘मेरे पिता रामविलास पासवान और मैं बीजेपी के साथ चट्टान की तरह खड़े रहे, लेकिन जब मैं उनसे इस मुश्किल समय में उम्मीद कर रहा था तो वे साथ नहीं हैं।’

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

राज्य में आज भी हो सकती है भारी बारिश

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता: मौसम विभाग की ओर से बताया गया है कि आज यानी शुक्रवार को भी दक्षिण बंगाल के कई हिस्सों में भारी बारिश की आगे पढ़ें »

ऊपर