गोधरा कांड को फिल्माने के लिए जलाई गई ट्रेन की बोगी

अहमदाबाद : आज गोधरा कांड को हुए लगभग 17 साल हो चुके है। गुजरात के गोधरा में 27 फरवरी 2002 को ट्रेन में आग लगाए जाने से 59 कारसेवकों की मौत हो गई थी। इसके बाद गुजरात के कई शहरों में दंगे भड़क गए थे। आज जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर एक डॉक्युमेंट्री की शूटिंग हो रही थी तो गोधरा कांड वाले दृश्‍य में वास्‍तविकता का अहसास दिलाने लिए रविवार को ट्रेन की बोगी की शूटिंग के दौरान एक कोच में आग लगाई गई। पश्चिम रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि सेट पर बोगी को आग के हवाले की गई, बोगी मॉक ड्रिल के लिए रिजर्व रखी गई थी। उल्‍लेखनीय है कि मोदी गोधराकांड के वक्त गुजरात के मुख्यमंत्री थे। वडोदरा रेलवे डिवीजन के प्रवक्ता खेमराज मीणा के मुताबिक, ”हमने इसके लिए निर्माताओं से शुल्क लिया है। उन्हें प्रतापनगर और विश्वामित्र रूट पर ब्रॉड गेज-नैरो गेज पर शूटिंग के लिए चार दिन की इजाजत दी गई थी। सोमवार को शूटिंग का आखिरी दिन था। निर्मातओं से कहा गया था कि शूटिंग के बाद बोगी उसी हालत में लौटाई जाए, जैसी दी जा रही है। निर्देशक उमेश शुक्ला ने कहा कि गोधरा में ट्रेन के जलने का दृश्य प्रतापनगर स्टेशन पर फिल्माया गया। कोच केयर सेंटर के पास ही सेट बनाया गया था। वहीं, शूटिंग के सुपरवाइजिंग एक्जीक्युटिव के मुताबिक, ट्रेन के बाहर से जलने के सीन को दिखाने के लिए इस बोगी का इस्तेमाल किया गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वेस्टइंडीज जीत के करीब, इंग्लैंड ने दूसरी पारी में 313 रन बनाए

साउथैम्पटन : इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में वेस्टइंडीज जीत की ओर है। मैच के पांचवें दिन टी ब्रेक तक मेहमान टीम ने 4 विकेट के आगे पढ़ें »

पगबाधा का फैसला सिर्फ और सिर्फ डीआरएस से हो : तेंदुलकर

नयी दिल्ली : महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अंपायरों के फैसलों की समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को ‘अंपायर्स कॉल’ को हटाने आगे पढ़ें »

ऊपर