गूगल ऐप स्टोर से हटाया गया पेटीएम, चलता था ‘ऑनलाइन जुआ’

नयी दिल्ली : गूगल प्ले स्टोर से पेटीएम ऐप को हटा लिया गया है। गूगल ने पेटीएम पर की गई कार्रवाई को लेकर एक बड़ कारण भी बताया। गूगल इंडिया ने आज एक ब्लॉग पोस्ट प्रकाशित किया है जिसमें जुए को लेकर प्ले स्टोर की नीतियों पर प्रकाश डाला गया है। गूगल ने अपने ब्लॉग में पेटीएम पर नियमों के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए कहा है कि हम ऑनलाइन जुआ खेलने की अनुमति नहीं देते हैं। हम किसी भी खेल में सट्टेबाजी की सुविधा देने वाले अनियमित ऐप्स का सपोर्ट नहीं करते हैं। इसमें यह भी शामिल है कि क्या कोई ऐप यूजर्स को किसी बाहरी वेबसाइट पर ले जाता है। जो उन्हें असली पैसे या नकद पुरस्कार जीतने के लिए टूर्नामेंट में भाग लेने की अनुमति देता हो, ऐसा करना हमारी नीतियों का उल्लंघन है।
जुए से जुड़ी नीतियों का उल्लंघन करने पर की गई कार्रवाई
गूगल में जुए से जुड़ी उसकी नीतियों का उल्लंघन करने के कारण पेटीएम पर यह कार्रवाई की है, जिसमें वे ऐप शामिल हैं जो ग्राहकों को किसी ऐसी बाहरी वेबसाइट पर जाने के लिए प्रेरित करते हैं, जो धनराशि लेकर खेलों में नकद पुरस्कार जीतने का मौका देती है। यह हमारी नीतियों का उल्लंघन है।
नीति के दिशानिर्देशों का पालन करने पर होगा दोबारा स्थापित
गूगल ने कहना है कि यह नीति उल्लंघन के डेवलपर को सूचित करता है और कार्रवाई के दौरान ऐप को हटा देता है। जैसे ही यह नीति के दिशानिर्देशों का पालन करता है। ऐप को प्ले स्टोर पर दोबारा स्थापित कर दिया जाएगा। पेटीएम अभी भी ऐप्पल ऐप स्टोर पर उपलब्ध है, जिनके फोन पर ये ऐप डाउनलोड है, वे अभी भी इसका उपयोग कर सकते हैं। अब तक बताई गई ऐप की सेवाओं में कोई समस्या नहीं है। इसके अलावा, प्ले स्टोर पर अभी भी पेटीएम फॉर बीजनस ऐप उपलब्ध है।
5 करोड़ मासिक सक्रिय उपयोगकर्ता

बता दें कि पेटीएम न केवल भारत में, बल्कि विश्व स्तर पर सबसे बड़ी फिनटेक ऐप्स में से एक है। सेंसर टावर के नवीनतम आंकड़ों के अनुसार, इस ऐप को अगस्त में 67 लाख लोगों ने डाउनलोड किया था। इतना ही नहीं पेटीएम भारत का सबसे कीमती स्टार्टअप है इसका दावा है कि इसके पास 5 करोड़ मासिक सक्रिय उपयोगकर्ता हैं। पेटीएम ऐप आज ही प्ले स्टोर से हटाई गई है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

भारी संख्या में हथियार के साथ तस्कर गिरफ्तार

दक्षिण 24 परगना : मंगलवार की शाम को पुलिस ने भारी संख्या में देशी कट्टा के साथ एक अभियुक्त को गिरफ्तार किया है। यह घटना आगे पढ़ें »

मायावती का अखिलेश पर बड़ा हमला, कहा – ‘सपा को हराने के लिए किसी को भी देंगे समर्थन’

- मुलायम के बाद अब अखिलेश की भी होगी बुरी गति : मायावती का बयान लखनउ: उत्तर प्रदेश में राज्यसभा चुनाव को लेकर मचे सियासी हलचल आगे पढ़ें »

ऊपर