गहलोत के 11 विधायक ‘लापता’

गहलोत अपने खेमे को जैसलमेर ले गये, लेकिन 6 मंत्री और 5 विधायक नहीं पहुंचे
जयपुर : राजस्थान में जारी सियासी संकट ने शुक्रवार को उस वक्त नया मोड़ ले लिया जब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने खेमे के विधायकों को जयपुर से निकालकर जैसलमेर भेज दिया। बताया जाता है कि है कि इस दौरान गहलोत खेमे के 11 सदस्य ‘लापता’ हो गये हैं जिनमें गहलोत सरकार के 6 मंत्री और 5 विधायक शामिल हैं। सूत्रों के अनुसार जयपुर से जैसलमेर नहीं पहुंचने वालों में परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास, चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा, खेल मंत्री चांदना, कृषि मंत्री लालचंद कटारिया, चिकित्सा राज्यमंत्री सुभाष गर्ग, सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना, विधायक जगदीश जांगिड़, विधायक अमित चाचाण, विधायक परसराम मोरदिया, विधायक बाबूलाल बैरवा और विधायक बलवान पूनिया शामिल हैं, जो अबतक जैसलमेर नहीं पहुंचे हैं।महेश जोशी सुप्रीम कोर्ट पहुंचेइस बीच राजस्थान विधानसभा कांग्रेस के मुख्य सचेतक महेश जोशी राजस्थान उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ उच्चतम न्यायालय पहुंच गये। जोशी ने 24 जुलाई को पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट और 18 अन्य विधायकों के पक्ष में उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ उच्चतम न्यायालय में दस्तक दी है।97 विधायक ही नजर आयेविधायकों के जयपुर से जैसलमेर लाये जाने की खबर के दौरान इन विधायकों की संख्या भी चर्चा में रही। संख्या को लेकर अटकलें चलती रहीं। गहलोत खेमे की ओर कभी 109, कभी 104 तो कभी 101 से ज्यादा विधायकों के साथ होने की बात कही जाती रही है लेकिन जैसलमेर जाने के दौरान 97 विधायक ही नजर आये। जयपुर से जैसलमेर के सफर में पहले हवाई जहाज में 54 विधायक चढ़े, दूसरे चार्टर प्लेन में मात्र 6 विधायक तो तीसरे प्लेन में 37 विधायक रवाना हुए।
विधायकों पर दबाव : गहलोत
इससे पहले विधायकों को जैसलमेर भेजे जाने संबंधी सवालों के जवाब में मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा था कि उनके विधायक जो कई दिनों से जयपुर में थे, उन्हें मानसिक रूप से परेशान किया जा रहा था। उन पर और उनके घरवालों पर दबाव बनाया जा रहा था। बाहरी दबाव को दूर रखने के लिए उन्हें स्थानांतरित करने के बारे में सोचा और फिर स्थानांतरित कर दिया। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र को बचाने के लिए हर किसी का कर्तव्य बनता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में एंटीबॉडी टेस्ट कराने पर जोर दे रहे हैं लोग, देखें कहां कितने प्रतिशत एंटीबॉडी मौजूद

सन्मार्ग संवाददाता, कोलकाताः कोरोना टेस्टिंग के कई तरीके अब राज्य में भी अपनाए जा रहे हैं। टेस्टिंग संख्या भी बढ़ी है। दूसरी तरफ देखा जा आगे पढ़ें »

मोबाइल के हुए 25 साल, भारत में राइटर्स से दिल्ली हुई थी पहली मोबाइल कॉल

फोन कभी थी वीवीआईपी की शानो शौकत, आज घर-घर की जरूरत सन्मार्ग संवाददाता, कोलकाताः मोबाइल फोन की दास्तां बिना बंगाल के अधूरी है। सबसे खास बात आगे पढ़ें »

करोड़ों माताओं, बहनों के आशीर्वाद से देश नित नयी ऊंचाइयां छूएगा : प्रधानमंत्री मोदी

बाबरी मस्जिद के पक्षकार रहे इकबाल अंसारी को मिला भूमि पूजन का आमंत्रण

कोरोना संक्रमित मरीज की मदद के लिए केएमसी ने जारी किया हेल्प लाइन नंबर

कश्मीर में आतंकवादियों ने किया सैनिक का अपहरण, निजी वाहन को जलाया

देश चीन के खिलाफ, बीसीसीआई-आईपीएल ने चीनी कंपनियों को बना रखा प्रायोजक : उमर अब्दुल्ला

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने खुद को किया क्वारंटीन

सुशांत मामले में मुंबई पहुंची पटना पुलिस को बीएमसी ने जबरदस्ती भेजा क्वारंटाइन में : पांडे

विकास दूबे का साथी व बिकरू कांड का आरोपी 50 हजार का इनामी बदमाश गिरफ्तार

ऊपर