गठबंधन पर फिलहाल ब्रेक, सपा में आया सुधार तो करेंगे विचार-मायावती

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन टूटने की चर्चाओं के बीच बसपा प्रमुख मायावती ने खुद स्थिति साफ की है और फिलहाल गठबंधन पर ब्रेक लगाने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव अपनी पार्टी के हालात सुधारें, अभी गठबंधन पर स्थाई ब्रेक नहीं लगा है। मायावती ने मीडिया से बात करते हुए एक तरफ अखिलेश और डिंपल के साथ हमेशा के लिए रिश्ते बने रहने की बात कही तो दूसरी तरफ फिलहाल चुनावी राजनीति में अकेले ही आगे बढ़ने की भी पुष्टि की। मायावती ने लोकसभा चुनाव में करारी हार का ठीकरा समाजवादी पार्टी पर फोड़ते हुए कहा कि उन्हें यादव वोट ही नहीं मिले। बता दें कि इससे पहले सोमवार को उन्होंने दिल्ली में लोकसभा चुनाव के नतीजों की समीक्षा की थी। मायावती ने पदाधिकारियों और सांसदों के साथ हुई बैठक में कहा था कि सपा से गठबंधन का फायदा नहीं हुआ।

हार का ठीकरा सपा पर

मायावती ने कहा, हमारी समीक्षा में यह पाया गया कि बसपा जिस तरह से कैडर बेस पार्टी है। हमने बड़े लक्ष्य के साथ सपा के साथ मिलकर काम किया है, लेकिन हमें बड़ी सफलता नहीं मिल पाई है। सपा ने अच्छा मौका गंवा दिया है। ऐसी स्थिति में सपा को सुधार लाने की जरूरत है। सपा को भी भाजपा के जातिवादी और सांप्रदायिक अभियान के खिलाफ मजबूती से लड़ने की जरूरत है। यदि मुझे लगेगा कि सपा प्रमुख राजनीतिक कार्यों के साथ ही अपने लोगों को मिशनरी बनाने में कामयाब हो जाते हैं तो फिर हम साथ चलेंगे। यदि वह इस काम में सफल नहीं हो पाते हैं तो हमारा अकेले चलना ही बेहतर होगा।

डिंपल, धर्मेंद्र और रामगोपाल की हार चिंताजनक

मायावती ने कहा, ”मैंने उन्हें (अखिलेश यादव) परिवार की तरह पूरा आदर दिया है। यह सम्मान हर सुख-दुख की घड़ी में बना रहेगा। लेकिन राजनीतिक हालात को दरकिनार नहीं किया जा सकता। लोकसभा चुनाव में सपा का बेस वोट पूरी तरह गठबंधन के साथ खड़ा नहीं रहा। ऐसे में अन्य सीटों के साथ-साथ खासकर कन्नौज से डिंपल यादव, बदायूं से धर्मेंद्र यादव और रामगोपाल यादव के बेटे अक्षय का फिरोजाबाद से हारना चिंताजनक है। बसपा और सपा का बेस वोट जुड़ने से इन उम्मीदवारों को कभी नहीं हारना चाहिए था। सपा का बेस वोट खुद उनसे छिटक गया है तो बसपा को उनका वोट कैसे मिला होगा।”
शेयर करें

मुख्य समाचार

जम्मू में आतंकवादी हमला एक नागरिक घायल

जम्मू : दक्षिण कश्मीर के कुलगाम इलाके के यारीपोरा बाजार में आतंकवादियों द्वारा पुलिस पार्टी पर हमला करने के बाद एक नागरिक घायल हो गया। आगे पढ़ें »

तब्लीगी से जुड़े 960 विदेशियों के 10 साल तक भारत आने पर लगा प्रतिबंध : सूत्र

नयी दिल्ली : सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार तब्लीगी जमात की गतिविधियों में शामिल 960 विदेशियों के भारत आने पर 10 साल तक सरकार आगे पढ़ें »

ऊपर