खुशखबरी : भारत में जल्द शुरू होगा कोरोना वैक्सीन के दूसरे-तीसरे फेज का ट्रायल

नई दिल्ली : भारतवासियों के लिए कोरोना वायरस संबंधित एक बड़ी नखुशखबरी सामने आ रही है। सूत्रों के मुताबिक, भारत में रूसी कोरोना वैक्सीन स्पुतनिक-वी के दूसरे व तीसरे फेज का क्लिनिकल ट्रायल जल्द शुरू होने वाला है। केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन के एक विशेषज्ञ पैनल ने शुक्रवार को वैक्सीन के दूसरे व तीसरे फेज के क्लिनिकल ट्रायल की मंजूरी भारतीय दवा निर्माता डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरीज को दी है।

बताते चलें कि, हैदराबाद स्थित फार्मास्युटिकल फर्म ने 13 अक्टूबर को ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया को दोबारा ट्रायल के लिए आवेदन किया था। साथ ही देश में रूसी कोरोना वैक्सीन स्पुतनिक-वी के दूसरे और तीसरे फेज के मानव परीक्षण एक साथ कराने की मंजूरी देने की मांग की थी। संशोधित प्रोटोकॉल के तहत डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरीज ने बताया हैं कि दूसरे ट्रायल टेस्ट में 100 सब्जेक्ट्स शामिल होंगे, जबकि परीक्षण के तीसरे चरण में 1,400 वॉलंटियर्स को शामिल किया जाएगा।

दूसरी की सफलता के बाद तीसरे फेज के लिए मिलेगी अनुमति

सूत्रों ने बताया कि कोविड-19 पर बनी विषय विशेषज्ञ समिति ने हाल ही में विचार-विमर्श के बाद संभावित टीके के दूसरे चरण के परीक्षण पहले करने की अनुमति देने की सिफारिश की। दूसरे चरण के सुरक्षा और प्रतिरोधक क्षमता संबंधी आंकड़ों को जमा करने के बाद ही कोविड वैक्सीन के तीसरे ट्रायल के मानव परीक्षण की परमीशन मिलेगी।

पहली कोविड वैक्सीन है स्पुतनिक

स्पुतनिक वी वैक्सीन को आरडीआईएफ और गेमालेया नेशनल रिसर्च सेंटर ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी द्वारा संयुक्त रूप से विकसित किया गया है. रूस ने कोरोना वायरस की पहली वैक्सीन स्पुतनिक-वी को अनुमति दी थी, जो दुनियाभर में कोविड-19 की पहली वैक्सीन है। इसके बाद रूस ने 14 अक्टूबर को दूसरी कोरोना वैक्सीन को मंजूरी दे दी है।

गौरतलब है कि बीते सप्ताह में ही स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने बताया था कि साल 2021 की शुरुआत में भारत को एक से अधिक स्रोतों से कोविड वैक्सीन मिलने की उम्मीद है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

संगमनगरी की गलियों में तपकर गीतांजलि श्री ने जीता साहित्य जगत का सोना

नई दिल्लीः गीतांजलि श्री के हिंदी उपन्यास ‘रेत समाधि’ को अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार मिला। अब तक के इतिहास में हिंदी का यह पहला उपन्यास है आगे पढ़ें »

ग्वालियर: सास ने खाना बनाने को कहा, नाराज बहू ने खा ली चूहे मारने की दवा

बीरभूम में दिल दहलाने वाली घटनाः 7 महीने से पति ने नहीं भेजा पैसा, पत्नी ने 3 बच्चों के साथ…

आर्यन खान केस की ‘जांच’ करने वाले समीर वानखेड़े पर लगे हैं ये 4 आरोप, देखें लिस्ट

आरसीपी सिंह मामले में कूदे चिराग पासवान, जदयू को दे दी सलाह

राजकोट के एटकोट पहुंचे पीएम मोदी, मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल का किया उद्घाटन

ब्रेकिंग : पूजा के दौरान जली महिला

ब्रेकिंग : बेनियापुकुर में परित्यक्त झोपड़ी से 11 बम बरामद

चुटकियों में वजन कम कर देगा ये गर्मियों वाला फल, आज ही घर लें आएं रसीला फ्रूट

सुरक्षा की चादरों में घिर रहा है सेकेंड हुगली ब्रिज

ऊपर