कोविंद ने हकीमपेट हवाई अड्डे को प्रदान किया राष्ट्रपति ध्वज

कोयंबटूर : राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने सोमवार को तमिलनाडु के सुलुर स्थित वायु सेना के हकीमपेट स्टेशन और पांच ‘बेस रिपेयर डिपो’ को राष्ट्रपति ध्वज (प्रेसिडेंशियल कलर्स) प्रदान किया। सुलुर वायु सेना स्टेशन भारतीय वायुसेना का एकमात्र हवाई अड्डा है जहां से लड़ाकू, परिवहन और हेलीकॉप्टर विमानों को समायोजित और संचालित किया जाता है।

जांबाजों ने दिखाये हैरतअंगेज कारनामे
इस दौरान कोविंद वायु सेना के बहादुर जांबाजों के हैरतअंगेज कारनामों के गवाह बने, जिसमें आकाश गंगा दल के सैनिकों ने 10 हजार फुट की ऊंचाई से पैराशूट से पूर्व निर्धारित स्थल पर उतर कर सबका मनमोह लिया।

तेजस और ‘एयर वॉरियर ड्रिल
भारतीय वायुसेना के पैराशूटर जंपरों ने राष्ट्र ध्वज तिरंगा की आकृति में प्रस्तुति देकर दर्शकों के दिलों में देश भक्ति का जोश भर दिया। सारंग हेलीकॉप्टर एरोबेटिक टीम, तेजस और ‘एयर वॉरियर ड्रिल’ ने भी इस अवसर पर प्रस्तुति दी। वर्ष 1942 में रॉयल नेवी द्वारा निर्मित सुलुर एयर बेस को पहली बार 1942-43 में द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान चालू किया गया था और इसे उस दौरान दक्षिण-पूर्व एशिया कमान के तहत रखा गया था। वर्ष 1956 में इसे वायु सेना के अधीन कर दिया गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अभी नहीं चलेंगी निजी बसें

कोलकाता : 1 जून से लॉकडाउन खुलने की शुरुआत हो जाएगी और 8 से काफी हद तक राहत मिल जाएगी, लेकिन बंगाल के लोगों के आगे पढ़ें »

तकनीक ने बदल दिया बीएफएसआई सेक्टर की भूमिका

नई दिल्ली : लंबे समय से भारत औपचारिक अर्थव्यवस्था के दायरे का विस्तार करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है। तकनीक के प्रवाह ने आगे पढ़ें »

ऊपर