किसानों की ओर से 8 दिसंबर को बुलाये गये भारत बंद को वाम दलों का समर्थन

नयी दिल्ली: किसान संगठनों द्वारा 8 दिसम्बर को बुलाये गये राष्ट्रव्यापी बंद को वाम दलों ने शनिवार को समर्थन करने की घोषणा की। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी), भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा), भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी-लेनिनवादी), रिव्ल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी और ऑल इंडिया फॉरवर्ड ब्लॉक ने संयुक्त वक्तव्य में यह घोषणा की। वक्तव्य में कहा गया है कि वाम दल नये कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसान संगठनों के प्रति एकजुटता प्रकट करते हैं और इन प्रदर्शनों का समर्थन करते हैं। वाम दल भारतीय कृषि और खाद्य सुरक्षा के लिए संघर्ष कर रहे हमारे अन्नदाताओं के खिलाफ आरएसएस/भाजपा के द्वेषपूर्ण प्रचार और बेतुके आरोपों की निंदा करते हैं। वे किसानों द्वारा तीन कृषि कानूनों और बिजली (संशोधन) विधेयक-2020 को वापस लेने की मांग का भी समर्थन करते हैं। वाम दल इन कानूनों को वापस लेने की किसानों की मांगों के साथ खड़े सभी राजनीतिक दलों और ताकतों से अपील करते हैं कि वे आठ दिसंबर के भारत बंद का समर्थन करें और सहयोग करें।
मालूम हो कि केन्द्र सरकार के तीन नये कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों ने आठ दिसम्बर को ‘भारत बंद’ का एलान किया है। उन्होंने चेतावनी दी है कि यदि सरकार उनकी मांगें नहीं मानती है तो वे राष्ट्रीय राजधानी की तरफ जाने वाली और सड़कों को बंद कर देंगे। इस बीच उनकी केंद्र सरकार के साथ शनिवार को पांचवें दौर की बातचीत होगी।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

पौष्टिक हो सुबह का नाश्ता

रात के भोजन एवं सुबह के नाश्ते के बीच का अंतर 10 से 12 घंटे तक हो जाता है। हमारा शरीर निद्रावस्था में भी ऊर्जा आगे पढ़ें »

गर्दन के दर्द से ऐसे पायें छुटकारा

आधुनिक बीमारियों में गर्दन में अकड़न और दर्द भी एक प्रचलित रोग है। जो लोग डेस्क जॉब करते हैं, अधिक लिखते-पढ़ते हैं या टी. वी. आगे पढ़ें »

ऊपर