‘कश्मीर विरोधी’ कमला बनीं उपराष्ट्रपति प्रत्याशी

जो बिडेन की साथी कमला हैरिस को भारतवंशी कहलाना पसंद नहीं
वाशिंगटन : अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बिडेन ने भारतीय मूल की सीनेटर कमला हैरिस को उप राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार (अपना रनिंग मेट) चुना है। बिडेन ने एक लिखित संदेश में इसकी घोषणा कर कई दिनों से जारी अटकलों को विराम लगा दिया। अगर हैरिस उप राष्ट्रपति बनती हैं तो इससे भारत की चिंता बढ़ सकती है, क्योंकि कश्मीर पर उनका रुख भारत के मान्यताओं के विपरीत है। कश्मीर मुद्दे पर बातचीत के दौरान एक बयान में उन्होंने कहा था कि भारतीय मूल की होने के बावजूद मुझे भारतवंशी कहलाना पसंद नहीं है। बता दें कि ऐसा पहली बार हुआ है, जब कोई अश्वेत महिला देश की उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनी हैं। यदि हैरिस उपराष्ट्रपति बन जाती हैं, तो वह इस पद पर काबिज होने वाली पहली भारतीय-अमेरिकी उपराष्ट्रपति होंगी। हैरिस के पिता अफ्रीकी और मां भारतीय हैं। वह अमेरिका के कैलिफोर्निया की सीनेटर हैं। पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा हैरिस को अक्सर पथप्रदर्शक बताते हैं।कश्मीर में लगाई गई पाबंदियों को हटाने की मांग की थी : कमला हैरिस ने कश्मीर से अनुच्छेद 370 को खत्म करने के बाद वहां के हालात को काबू में करने के लिए पाबंदियां लगाए जाने का विरोध किया था। उन्होंने सीधे तौर पर भारत से कश्मीर में लगाए गए पाबंदियों को हटाने की मांग की थी। इसके अलावा हैरिस ने दिसंबर 2019 में विदेश मंत्री एस जयशंकर के भारतीय मूल की अमेरिकी सांसद प्रमिला जयपाल से मुलाकात न करने को लेकर भी हमलावर रहीं थी।
हैरिस का चुनाव करना हैरानी भरा : ट्रंप
वाशिंगटन : अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि वह इस बात से काफी हैरान हैं कि उनके डेमोक्रेटिक प्रतिद्वंद्वी जो बिडेन ने भारतीय मूल की सीनेटर कमला हैरिस को उप राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार (अपना रनिंग मेट) चुना है जबकि वह लगातार उनका अनादर करती रही हैं। वह कई चीजों को लेकर चर्चा में थीं, इसलिए मुझे बिडेन द्वारा उनका चयन करने पर थोड़ा अचम्भा हो रहा है। इतना अनादर करने वाले व्यक्ति का चयन करना कठिन काम है। डेमोक्रेट प्राइमरी डिबेट के दौरान उन्होंने बिडेन के बारे बेहद खराब बातें कहीं। मुझे लगा था कि वह उनका चयन नहीं करेंगे। बिडेन ने भारतीय मूल की सीनेटर कमला हैरिस को उप राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार (अपना रनिंग मेट) चुना। ऐसा पहली बार हुआ है, जब कोई अश्वेत महिला देश की किसी बड़ी पार्टी की ओर से उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनी हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

विपक्षी सदस्यों के आचरण से आहत हैं उपसभापति हरिवंश, करेंगे 24 घंटे का उपवास

नई दिल्ली: राज्यसभा के उप सभापति हरिवंश ने विपक्षी सदस्यों के आपत्तिजनक आचरण पर गहरी पीड़ा जताते हुए मंगलवार को घोषणा की कि वह 24 आगे पढ़ें »

इम्युनिटी बढ़ाने की दवाओं की मांग में 100 फीसदी का इजाफा

कोलकाता : कोरोना वायरस की वैक्सीन अभी तक बाजारों में उपलब्ध नहीं हो पायी है। उम्मीद जतायी जा रही है कि अगले साल के शुरू आगे पढ़ें »

ऊपर