कर्नाटक में चुनाव के बाद पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े, कांग्रेस ने कसा तंज

नई दिल्लीः कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए मतदान संपन्न होने के बाद सोमवार को सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियों ने पेट्रोल – डीजल के दामों पर 19 दिन से लगी रोक हटा ली। इसके बाद पेट्रोल की कीमत में 17 पैसे और डीजल के मूल्य में 21 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि हो गई। लेकिन सोमवार को जैसे ही दाम बढ़े तो कांग्रेस ने मोदी सरकार पर हमला बोल दिया। पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम और कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर सरकार को घेरा। पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने सोमवार को ट्वीट किया कि एक बार फिर से, पेट्रोल और डीजल पर टैक्स बढ़ाया गया। इससे ग्राहकों पर और भी बोझ पड़ेगा। कर्नाटक चुनाव तो सिर्फ एक तरह का इंटरवल था।
पेट्रोल की कीमत 5 महीने के उच्च स्तर पर
सरकारी तेल कंपनियों की ओर से जारी अधिसूचना के अनुसार दिल्ली में पेट्रोल 74.63 रुपए प्रति लीटर से बढक़र 74.80 रुपए प्रति लीटर जबकि डीजल 65.93 रुपए से 66.14 रुपए प्रति लीटर हो गया है। वृद्धि के बाद डीजल की कीमतें रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गईं जबकि पेट्रोल 5 महीने के उच्च स्तर पर पहुंच गया। तेल कंपनियों द्वारा पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बदलाव पर लगी रोक को कर्नाटक विधानसभा चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है। कहा जा रहा है कि चुनाव के मद्देनजर सरकार के इशारे पर तेल कंपनियों ने लागत बढऩे के बावजूद करीब तीन सप्ताह तक कीमतों को अपरिवॢतत रखा। हालांकि , शनिवार को कंपनियां फिर से पेट्रोल-डीजल की कीमतों में रोजाना बदलाव की ओर वापस आ गई हैं। अतंरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में वृद्धि और डॉलर के मुकाबले रुपए गिरावट के बावजूद कीमतें नहीं बढ़ाने से कंपनियों को लगभग 500 करोड़ रुपए का नुकसान होने का अनुमान है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

naqvi

नकवी बोले- अल्पसंख्यकों के लिए भारत स्वर्ग है, पाकिस्तान नर्क

नयी दिल्ली : केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने सोमवार को राष्ट्रीय अल्पसंख्यक विकास एवं वित्त निगम (एनएमडीएफसी) के रजत जयंती समारोह में आगे पढ़ें »

syria

तुर्की के हमले में सीरिया में 26 नागरिकों की मौत, अमेरिका भेज सकता है सेना

बेरूत : सीरिया में कुर्दों के खिलाफ तुर्की के हमले में रविवार को करीब 26 नागरिकों की मौत हो गई। एक युद्ध निगरानी संस्था ने आगे पढ़ें »

ऊपर