कर्नाटक में खिला कमल

बेंगलुरुः कर्नाटक में जैसे-जैसे मतगणना आगे बढ़ रही है, चुनावी तस्वीर साफ होती दिख रही है। 222 सीटों के आए रुझानों में भाजपा 108 सीटों पर आगे चल रही है। इससे पहले वह बहुमत के आंकड़े 112 को पार करते हुए 116 तक पहुंच गई थी, लेकिन फिर पिछड़ गई और अब बहुमत को लेकर मामला फंसता दिख रहा है। रुझानों में भाजपा का शतक लगते ही बेंगलुरु से लेकर दिल्ली तक पार्टी कार्यकर्ताओं ने जश्न मनाना शुरू कर दिया। चुनाव आयोग के मुताबिक कांग्रेस 74 और जेडीएस+ 39 सीटों पर आगे चल रहे हैं। दो सीटों पर अन्य आगे चल रहे हैं।
राहुल गांधी के लिए बड़ा झटका
रुझान नतीजों में तब्दील होते हैं तो यह सीधे तौर पर कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी के लिए बड़ा झटका है। उनकी रणनीति एक बार फिर फेल हो जाएगी और कांग्रेस पार्टी मात्र पंजाब, पुडुचेरी और मिजोरम में सिकुड़ कर रह जाएगी। मुख्यमंत्री सिद्धारमैया चामुंडेश्वरी सीट से चुनाव हार गए हैं। हालांकि उनके बेटे यतींद्र वरुणा क्षेत्र से जीत गए हैं। रुझान देख सिद्धारमैया और कांग्रेस नेताओं के बीच मुख्यमंत्री आवास पर बैठक हो रही है। विदित है कि राज्य में विधानसभा की कुल 225 सीटें हैं जिनमें से 224 पर विधायकों का निर्वाचन होता है जबकि एक सीट पर सदस्य का मनोनयन किया जाता है। 1985 के बाद से कर्नाटक की जनता ने किसी भी राजनीतिक दल पर लगातार दो बार भरोसा नहीं जताया है। अंतिम बार रामकृष्ण हेगड़े की अगुआई में जनता दल की लगातार दूसरी बार सरकार बनी थी। इस बार भी साफ दिख रहा है कि जनता ने कांग्रेस की मौजूदा सरकार के खिलाफ वोट किया है। कांग्रेस दूसरे नंबर पर सिकुड़ती दिख रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सीएए और एनआरसी को लेकर मेयर ने बोला हमला

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : मेयर और मंत्री फिरहाद हकीम ने सीएए और एनआरसी को लेकर एक बार फिर केंद्र सरकार पर हमला बोला। रविवार को रक्तदान आगे पढ़ें »

ईस्ट वेस्ट मेट्रोः इस महीने शुरु होने की उम्मीदें बढ़ीं

नए जीएम ने मेट्रो परियोजना का किया निरीक्षण सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः साल्टलेक स्टेडियम से साल्टलेक सेक्टर-5 तक मेट्रो परियोजना के शुरू होने की उम्मीदें एक बार फिर आगे पढ़ें »

ऊपर