कठुआ मामलाः जम्मू कश्मीर सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा- मामले को स्‍थानानतरित करने की जरूरत नहीं

जम्मूः कठुआ दुष्कर्म व हत्या मामले में सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई की। अब मामले के निष्पक्ष ट्रायल को लेकर राज्य सरकार ने कोर्ट में कहा कि इसकी सुनवाई जम्मू में जायज तरीके से हो रही है और इसको जम्मू कश्मीर से बाहर स्‍थानानतरित करने की जरूरत नहीं है। पीड़िता के परिवार की वकील दीपिका सिंह ने इस बात की आशंका जताई थी कि मामले की सुनवाई जम्मू में निष्पक्ष तरीके से नहीं होगी इसलिए मामले को जम्मू कश्मीर से बाहर कहीं स्‍थानानतरित किया जाए।
गौरतलब है कि दीपिका सिंह ने कोर्ट में यह भी कहा था कि उनकी जान को खतरा है और उनके साथ दुष्कर्म भी हो सकता है। दीपिका सिंह ने जम्मू बॉर एसोसिएशन पर उन्हें धमकाने का आरोप भी लगाया था। कोर्ट ने इस मामले में संज्ञान लेते हुए बार काउंसिल ऑफ इंडिया के पांच सदस्यों की एक टीम भी जम्मू भेजी थी पर टीम ने बीएसी जम्मू को क्लीन चीट दी थी और दीपिका सिंह द्वारा लगाए गए आरोपों को खारिज किया था।
यह है कठुआ मामला
कठुआ में घुमंतू समुदाय की आठ वर्षीय बच्ची को सात दिनों तक बंधक बनाकर उसके साथ दुष्कर्म व फिर उसकी हत्या कर दी गई। बच्ची 10 जनवरी को लापता हो गई थी और 17 जनवरी को बच्ची का शव रसाना के जंगल में मिला था। इस मामले में पुलिस ने 8 लोगों को गिरफ्तार किया है जिसमें राजस्व विभाग का पूर्व अधिकारी और पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। इस मामले में आरोपी पक्ष द्वारा सीबीआई जांच की मांग की जा रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

जनजातियों की कला-संस्कृति, परंपरा एवं रीति-रिवाज समृद्ध : द्रौपदी मुर्मू

रांची : झारखंड की राज्यपाल सह कुलाधिपति द्रौपदी मुर्मू ने शुक्रवार को कहा कि जनजातियों की कला, संस्कृति, लोक साहित्य, परंपरा एवं रीति-रिवाज समृद्ध रही आगे पढ़ें »

अत्यधिक प्रोटीन लेना हो सकता है जानलेवा: रिपोर्ट

नई दिल्ली : स्वस्थ रहने की बात हो तो सबसे पहले प्रोटीन लेने की सोचते हैं। प्रोटीन से मांसपेशियां मजबूत होती है और साथ ही आगे पढ़ें »

ऊपर