सूझ बूझ दिखाकर लड़के ने बचाई अपने चाचा की जान, अब पीएम मोदी देंगे पुरस्कार

ओडिशा: एक किशोर ने बहादुरी का कुछ ऐसा काम किया है जिसे करने में बड़ों को भी पसीना छूट जाए, जिससे उसकी जान को भी खतरा हो सकता है। ओडिशा के केन्द्रपाड़ा जिले के एक गांव में एक छोटे से बच्चे ने अपने चाचा को बचाने के लिए अपूर्व साहस का परिचय दिया है। इस नाबालिग लड़के को उसके साहस के लिए अब उसे राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार के लिए चुना गया है। एक अधिकारी ने बताया कि कंदिरा गांव के सरकारी बासुदेबपुर विद्यापीठ हाई स्कूल के दसवीं कक्षा के छात्र सीतू मलिक (15) को 23 जनवरी 2019 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीरता पुरस्कार प्रदान करेंगे।
बताया गया है कि सीतू ने इस साल 20 फरवरी को दोनों हंसिना नदी के किनारे बने खेत में थे। गांव के तालाब में घुसे एक मगरमच्छ के पंजे से अपने चाचा विनोद मलिक की जान बचाने के लिए बहादुरी और सूझ-बूझ दिखाते हुए बांस उठाया और मगरमच्छ के सिर के ऊपरी हिस्से पर वार किए। मगरमच्छ ने पीड़ित को जकड़ रखा था और वह अचानक हुए इस हमले से हिल गया तथा विनोद को छोड़कर तालाब में चला गया।
केंद्रपाड़ा के जिलाधीश दसरथी सत्पथी ने बताया कि वो खुद को सम्मानित महसूस कर रहे हैं कि जिले के किशोर को राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार के लिए चुना गया है। इस पुरस्कार के लिए चयन भारतीय बाल कल्याण परिषद ने किया और प्रधानमंत्री अगले महीने यह पुरस्कार देंगे। इस संबंध में आईसीसीडब्ल्यू का पत्र जिला प्रशासन को मिल गया है। वहीं, सीतू के स्कूल के हेडमास्टर महेश्वर राउत ने कहा हम गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं।








शेयर करें

मुख्य समाचार

rajeev-kumar

राजीव पर शिकंजा कसने आ रहे हैं ‘स्पेशल 12’

सप्ताह भर के अंदर कार्रवाई होगी पूरी : सीबीआई सूत्र अलीपुर कोर्ट में कैविएट दायर किया राजीव कुमार ने सीबीआई जारी करा सकती है वारंट सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : आगे पढ़ें »

मोदी से मिलीं ममता, बंगाल से जुड़े मसले पर हुई चर्चा

पीएम को बंगाल आने का दिया न्योता राज्य के नामकरण को लेकर हुई चर्चा एनआरसी के मुद्दे पर नहीं हुई बात सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता/नई दिल्ली : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आगे पढ़ें »

ऊपर