एससी का बड़ा फैसला : अब व्हाट्सएप-ईमेल से भेज सकते हैं समन

नयी दिल्ली : कोरोना वायरस की वजह से लागू हुए लॉकडाउन के कारण अब अधिकतर काम डिजिटल हो चला है । सुप्रीम कोर्ट ने भी इस दौरान वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कई मामलों की सुनवाई की। अब सर्वोच्च अदालत ने एक और बड़ा फैसला सुनाया है। अब कोई भी समन या नोटिस व्हाट्सएप के जरिए भेजे जा सकेंगे। सुप्रीम कोर्ट ने आज इस बात की इजाजत दी है। अब व्हाट्सएप, टेलिग्राम के जरिए समन या नोटिस भेजे जा सकेंगे। साथ ही ई-मेल के जरिए भी इसे संबंधित व्यक्ति को भेजा जाएगा । अगर व्हाट्सएप पर ब्लू टिक आता है, तो ये मान लिया जाएगा कि रिसीवर ने नोटिस को देख लिया है। इससे पहले फिजिकली तौर पर ही नोटिस और समन भेजे जाते थे। ऐसे में कई बार दिक्कतों का सामना करना पड़ता था।

प्रौद्योगिकी का और अधिक उपयोग करने का फैसला

उच्चतम न्यायालय ने मौजूदा कोविड-19 के हालात को देखते हुए न्यायिक कार्यवाही में प्रौद्योगिकी का और अधिक उपयोग करने का फैसला किया और निर्देश दिया कि अब अदालत के सम्मन तथा नोटिस लोगों को ‘ईमेल, फैक्स और वॉट्सऐप जैसे एप्लीकेशन’ के माध्यम से भेजे जा सकते हैं। प्रधान न्यायाधीश एस ए बोबडे और न्यायमूर्ति आर सुभाष रेड्डी तथा न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना की पीठ ने मामले में अटॉर्नी जनरल के के वेणुगोपाल की याचिका पर आदेश जारी किया। पीठ ने कहा ‘नोटिस और सम्मन जारी करने में देखा गया है कि लॉकडाउन के दौरान डाकघरों में जाना संभव नहीं है। हम निर्देश देते हैं कि इस तरह की सेवाएं ईमेल, फैक्स या इन्स्टेंट मैसेंजर सर्विस के माध्यम से की जा सकती हैं।’ पीठ ने ‘जिरोक्स’ का उदाहरण दिया और कहा कि कंपनी के नाम का इस्तेमाल ‘फोटो स्टेट’ के लिए किया जाता रहा है। शीर्ष अदालत ने वेणुगोपाल की इन आशंकाओं का निराकरण किया कि वह वॉट्सऐप से सम्मन और नोटिस भेजने में सहज महसूस नहीं करते।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कंटेनमेंट जोन : नहीं मानी बात तो बिगड़ सकते हैं हालात

हावड़ा : हावड़ा में कोरोना का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। इसी लिए हावड़ा में कंटेनमेंट जोन की संख्या भी बढ़ रही है। वर्तमान आगे पढ़ें »

राम मंदिर भूमि पूजन प्रशासन ने जारी किए ये खास निर्देश

अयोध्या: अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के पहले पूरी व्यवस्था चाक-चौबंद है और आधिकारियों को भी इसके लिए दिशा-निर्देश दिए जा चुके हैं। मंदिर परिसर आगे पढ़ें »

अब तक 25,000 लावारिस शवों का अंतिम संस्कार कर चुके शरीफ चाचा को मिला शिलान्यास कार्यक्रम का निमंत्रण

ट्रंप ने भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी पेशेवरों को दिया बड़ा झटका, एच-1बी वीजा आदेश पर किए हस्ताक्षर

राम मंदिर निर्माण की प्रतीक्षा में उर्मिला चतुर्वेदी ने 28 साल से नहीं खाया अन्न

सोमवार से ही शुरू हो गई अयोध्या में पूजा, आज हुआ हनुमानगढ़ी में निशान पूजन,कल पीएम मोदी लेंगे संकल्प

school scam

कोविड-19 : 2.38 करोड़ बच्चे अगले साल छोड़ सकते हैं स्कूल की पढ़ाई : गुतारेस

त्वचा को बनाएं निखरा-निखरा

आप की दिल्ली इकाई का होगा पुनर्गठन : गोपाल राय

सीएम के निर्देश के बावजूद कोरोना संक्रमित शवों को जलाने में लग रहे हैं कई दिन

ऊपर