एयरसेल-मैक्सिस मामला में चिदंबरम की गिरफ्तारी पर लगी रोक

नई दिल्लीः एयरसेल-मैक्सिस मामले में कथित आरोपी पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी गई। यह फैसला दिल्ली की एक अदालत ने मंगलवार को सुनाई है। इसके तहत दोनों की गिरफ्तारी की अवधि को 11 जनवरी तक के लिए बढ़ा दी गई है।
विशेष न्यायाधीश ओपी सैनी ने चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति को कुछ दिनों के लिए राहत की सांस दी हैं। सीबीआई एवं ईडी ने अदालत के समक्ष कुछ नयी सामग्री मिलने तथा उनका मिलान किए जाने के लिए कुछ समय की मांग की है। इसके तहत न्यायाधीश ने सुनवाई के बाद उन्हें गिरफ्तार करने से फिलहाल रोक दिया है। इसके साथ ही सीबीआई ने इस मामले में जुड़े कुछ आैर आरोपियों पर मुकदमा चलाने की अनुमति मांगी।

क्या है एफआईपीबी मामला?

यह मामला फॉरेन इन्वेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड (एफआईपीबी) से जुड़ा है। 2006 में एयरसेल-मैक्सिस डील को पी चिदंबरम ने बतौर वित्त मंत्री मंजूरी दी थी। पी चिदंबरम पर आरोप है कि कैबिनेट कमेटी ऑन इकोनॉमिक अफेयर्स की मंजूरी के बिना 3500 करोड़ की एफडीआई की मंजूरी दी जबकि उनके पास 600 करोड़ रुपए तक के प्रोजेक्‍ट प्रपोजल्‍स को ही मंजूरी देने का अधिकार था।




शेयर करें

मुख्य समाचार

भारतीय टीम मुझ पर निर्भर नहीं, कई खिलाड़ी मुझसे बेहतर : छेत्री

कोलकाता : भारत के लिए रिकार्ड गोल करने वाले सुनील छेत्री पर बांग्लादेश के खिलाफ मंगलवार को होने वाले विश्व कप क्वालीफायर मुकाबले में गोल आगे पढ़ें »

आईसीसी टेस्ट रैंकिंग : स्मिथ के करीब पहुंचे कोहली

कोहली ने 37 अंकों की लम्बी छलांग लगायी, नंबर वन बनने से दो अंक पीछे दुबई : भारतीय कप्तान विराट कोहली ने पुणे में दक्षिण अफ्रीका आगे पढ़ें »

ऊपर