एनएसए अजीत डोभाल को मिला कैबिनेट मंत्री का दर्जा

नई दिल्ली : केन्द्र की सत्ता में दोबारा काबिज होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बड़ा फैसला लेते हुए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल को कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया है। डोभाल को लगातार दूसरे कार्यकाल के लिए फिर से एनएसए नियुक्त किया है।
पहले मिला था राज्यमंत्री का दर्जा
कार्मिक मंत्रालय के एक आदेश में कहा गया है कि कैबिनेट की नियुक्ति समिति ने डोभाल को इस पद पर दोबारा नियुक्त किये जाने के संबंध में अपनी मंजूरी दे दी है और यह व्यवस्था 31 मई 2019 से प्रभावी होगी। प्रधानमंत्री के कार्यकाल के साथ साथ उनकी नियुक्ति भी स्वत: समाप्त हो जाएगी। आदेश में कहा गया है, ‘‘इस पद पर नियुक्ति के दौरान उन्हें कैबिनेट मंत्री का रैंक दिया गया है।’’ डोभाल को पहली बार मई 2014 में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बनाया गया था और उन्हें राज्य मंत्री का दर्जा दिया गया था।
एयर स्ट्राइक का ताना-बाना बुना
देश के राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के तौर पर प्रधानमंत्री की पहली पसंद रहे डोभाल ने खुद को साबित करने में कहीं से कोई कसर नहीं छोड़ी। उन्होंने फरवरी में पुलवामा केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के काफिले पर हुए आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान के बालाकोट स्थित आतंकी प्रशिक्षण शिविरों पर एयर स्ट्राइक का ताना-बाना बुनने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।
पाकिस्तान में जासूसी कर चुके हैं
1968 केरल बैच के भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी अजीत डोभाल को 31 मई 2014 को देश के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बनाया गया था। वे अपनी नियुक्ति के महज चार साल बाद खुफिया विभाग से जुड़ गए थे। वे एक जासूस के तौर पर सात साल तक पाकिस्तान में जासूसी कर चुके हैं।
कीर्ति चक्र और गैलेंट्री अवॉर्ड से सम्मानित
कीर्ति चक्र और शांतिकाल में मिलने वाले गैलेंट्री अवॉर्ड प्राप्‍त्‍ करने वाले एक मात्र पुलिस अधिकारी डोभाल को भारतीय सेना की ओर से की गई सर्जिकल स्ट्राइल और एयर स्ट्राइक की योजना का श्रेय दिया जाता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बड़ी खबर : नेपाल ने बैन किए भारतीय न्यूज चैनल

नई दिल्ली/काठमांडु : चीन की शह पर भारत से दुश्मनी पाल रहे नेपाली प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के इशारे पर नेपाल ने बड़ा कदम उठाते आगे पढ़ें »

बिकरू कांड : गैंगस्टर विकास दुबे यूपी एसटीएफ के हवाले

उधुर, उज्जैन पुलिस ने दावा किया - विकास दुबे को हमने गिरफ्तार किया उज्जैन/लखनऊ : कानपुर के बिकरू गांव में 8 पुलिसवालों की जान लेने वाले आगे पढ़ें »

ऊपर