एक महीने में सेना में सभी महिला अधिकारियों को स्थायी कमीशन दें केंद्र : उच्चतम न्यायालय

नयी दिल्ली : उच्चतम न्यायालय ने सभी सेवारत शॉर्ट सर्विस कमीशन महिला अधिकारियों को सेना में स्थायी कमीशन देने के अपने फैसले को लागू करने के लिए केंद्र को मंगलवार को एक और माह का समय दे दिया। न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि केंद्र को उसके फैसले में दिए गए सभी निर्देशों का अनुपालन करना होगा। शीर्ष अदालत का यह निर्देश केंद्र की ओर से दायर एक आवेदन पर आया जिसमें उसने कोविड-19 वैश्विक महामारी का हवाला देकर फैसले के क्रियान्वयन के लिए छह माह का समय मांगा था।

17 फरवरी को दिया था निर्देश

उच्चतम न्यायालय ने 17 फरवरी को अपने ऐतिहासिक फैसले में निर्देश दिया था कि सेना में सभी महिला अधिकारियों को स्थायी कमीशन और कमांड पोस्टिंग दी जाए। शीर्ष अदालत ने महिलाओं की शारीरिक सीमा का हवाला देने वाले केंद्र के रूख को खारिज करते हुए इसे ‘‘लैंगिक रूढ़ियों’’ और ‘‘महिला के खिलाफ लैंगिक भेदभाव’’ पर आधारित बताया था। इसने केंद्र को निर्देश दिया था कि तीन माह के भीतर, सभी सेवारत शॉर्ट सर्विस कमीशन (एसएससी) महिला अधिकारियों को स्थायी कमीशन देने पर विचार किया जाएगा भले ही वे 14 वर्ष या 20 वर्ष सेवाएं दे चुकी हों।

शेयर करें

मुख्य समाचार

धोनी खेल सकते है 2021 और 2022 आईपीएल में : सीएसके सीईओ

नयी दिल्ली : चेन्नई सुपरकिंग्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) कासी विश्वनाथन को लगता है कि उनके करिश्माई खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी 2021 और 2022 आगे पढ़ें »

टोनी की तरकीब

बहुत समय पहले की एक समुद्र के किनारे कुछ पक्षियों का झुण्ड रहता था जो समुद्री कीड़े -मकोड़े और मछलियां खाकर अपना जीवन निर्वाह करते आगे पढ़ें »

ऊपर