उत्‍तर भारत में रेतीला तूफान से अब तक 65 लोगों की मौत

आगरा/जयपुरः राजस्‍थान और पश्चिमी उत्तर प्रदेश समेत उत्‍तर भारत के कई इलाकों में बुधवार शाम को आए रेतीले तूफान में अब तक 65 लोगों की मौत हो गई है और बड़ी संख्‍या में लोग घायल हो गए हैं। आंधी से शाम को पारा 10 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया। मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ के कारण आए इस भीषण तूफान ने आम जनजीवन को तहस-नहस कर दिया। इसके अलावा पंजाब के भी कुछ इलाकों में तूफान की वजह से लोग प्रभावित हुए हैं।
उत्तर प्रदेश में 44 की मौत
आपदा प्रबंधन विभाग ने पश्चिमी यूपी के 6 जिलों में 44 लोगों के मौत की पुष्टि की है। इनमें से 36 लोगों की मौत आगरा में हुई है। इसके अलावा तूफान की चपेट में आने से बिजनौर में 3, सहारनपुर में 2, चित्रकूट, रायबेरली और बरेली में 1-1 व्‍यक्ति की मौत हो गई। वहीं कानपुर देहात में भी दो लोगों की मौत की खबर है। उधर, उत्तर प्रदेश के राजस्‍व और राहत आयुक्‍त संजय कुमार ने कहा है कि मरने वालों की संख्‍या अभी बढ़ सकती है।
150 से अधिक पशुओं की मौत
150 से अधिक पशुओं की भी आंधी से मौत हुई है। राज्‍य सरकार ने मृतकों के परिजनों को 24 घन्टे में 4 लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा की है। इसके अलावा गंभीर रूप से घायल लोगों को 50 हजार रुपए की सहायता देने के निर्देश दिए गए हैं। आगरा के शहरी क्षेत्र की बजाय ग्रामीण इलाकों में तबाही अधिक हुई है। करीब 90 मिनट तक आंधी, बारिश और ओलों के कहर से सैकड़ों पेड़ उखड़ गए और शहरी क्षेत्र में होर्डिंग गिर पड़े। देहात में कई मकानों की छत ही उड़ गई। ताजमहल परिसर में भी दो पेड़ों के गिरने की सूचना है। आगरा के एडीएम फाइनेंस आरके मालपानी ने बताया है कि तूफान से शहर और ग्रामीण क्षेत्रों में 36 लोगों की मौत हो गई है। इनमें सबसे ज्यादा 15 लोग खेरागढ़,10 फतेहाबाद, बाह में 4 और एत्मादपुर में 2 लोगों की तूफान के चपेट में आने से मौत हो गई।
राजस्‍थान भी हुआ तबाह
उधर, राजस्‍थान के बीकानेर, भरतपुर, अलवर और धौलपुर में तूफान से सबसे ज्‍यादा नुकसान पहुंचा है। तूफान की गति करीब 135 किमी प्रतिघंटा थी। इससे इन जिलों में सैंकड़ों पेड़ और बिजली के पोल उखड़ गए। चूरू, पिलानी, दौसा और झुंझनूं में ओलावृष्टि भी हुई है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक अगले 48 घंटे में प्रदेश के कई हिस्‍सों में हल्‍की बारिश, अंधड़ और लू चल सकता है। राजस्‍थान की राजधानी जयपुर में भी तेज हवाएं चलीं और कई इलाकों में बूंदाबादी हुई। हालात को देखते हुए प्रशासन ने सभी जिलों में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ के जवानों को तैनात कर दिया है। बताया जा रहा है कि आंधी की वजह से जान और माल का काफी नुकसान हुआ है। तेज आंधी से अलवर में कारों से भरा ट्रक पलट गया और भरतपुर में एक निजी अस्‍पताल की छत उड़ गई।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ऑस्ट्रेलिया ओपन में भारी उलटफेर, सेरेना और ओसाका हार कर बाहर

मेलबर्न : अमेरिका की अनुभवी सेरेना विलियम्स शुक्रवार को यहां आस्ट्रेलियाई ओपन में चीन की वांग कियांग से हार कर टूर्नामेंट से बाहर हो गयी आगे पढ़ें »

bobade

अत्यधिक कर वसूलना सामाजिक अन्याय : जस्टिस बोबडे

नई दिल्ली : शीर्ष न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश शरद अरविंद बोबडे ने देश की जनता पर कर का बोझ कम करने तथा राष्ट्र के चहुंमुखी आगे पढ़ें »

ऊपर