ई-सिगरेट पर रोक लगाने के लिए आज अध्यादेश जारी, इन मामलों में अलग-अलग सजा होगी

e cigrette

नई दिल्लीः भारत सरकार ने इलेक्ट्रानिक सिगरेट यानी ई- सिगरेट के उत्पादन, बिक्री, भंडारण, प्रचार, लाने-ले जाने और आयात- निर्यात को प्रतिबंधित करने के लिए बृहस्पतिवार को एक अध्यादेश जारी कर दिया है। इसका उल्लंघन करने पर जेल की सजा हो सकती है और जुर्माना लग सकता है।

इन मामलों में अलग-अलग सजा
अध्यादेश के अनुसार, पहली बार इसका उल्लंघन करने वालों को एक साल तक की सजा होगी और एक लाख रुपये तक का जुर्माना लगेगा। इस प्रतिबंध का लगातार उल्लंघन करने वालों को तीन साल तक की सजा हो सकती है या पांच लाख रुपये का जुर्माना भी हो सकता है या दोनों सजाएं साथ हो सकती हैं। ई-सिगरेट का भंडारण करने पर अब छह महीने तक की जेल की सजा हो सकती है और 50,000 रुपये का जुर्माना लग सकता है या जेल की सजा और जुर्माना दोनों देना पड़ सकता है।

निर्देश जारी
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि सरकार ने ई-सिगरेट और इस तरह के अन्य उत्पादों को प्रतिबंधित करने का फैसला किया है जिनसे लोगों के स्वास्थ्य को खास तौर पर युवाओं को खतरा है। यह अध्यादेश अधिकारियों को उन जगहों पर भी तलाशी की अनुमति देता है जहां इस तरह की तलाशी की इजाजत नहीं होती है। अधिकारी संपत्ति, ई-सिगरेट के भंडारण या उत्पादनकर्ता के रिकॉर्ड, आयातक-निर्यातक, लाने-ले जाने की व्यवस्था करने वाले की संपत्ति शिकायत के बाद कुर्क कर सकते हैं। इसमें यह भी कहा गया है कि ऐसे स्थानों के मालिक या उसे संभालने वाले, जहां ई-सिगरेट तैयार की जाती थी, बिना विलंब किए इस भंडारण को निकटतम संबंधित प्रशासन को सौंप दें।

सिगरेट उद्योग को बचाने के लिए जल्दबाजी में उठाया कदम- व्यापारिक वर्ग

ई-सिगरेट पर रोक लगाने के फैसले को लेकर व्यापारिक निकायों, उपयोगकर्ताओं और अन्य पक्षों ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि यह सरकार द्वारा जल्दबाजी में उठाया गया कठोर कदम है। उनका कहना है कि सरकार ने पारंपरिक सिगरेट उद्योग को बचाने के लिए जल्दबाजी में इस तरह का ‘कठोर’ कदम उठाया है।

सुरक्षित विकल्पों से वंचित किया गया- एवीआई
ई-सिगरेट उपयोगकर्ताओं का प्रतिनिधित्व करने वाली संस्था एसोसिएशन ऑफ वैपर्स इंडिया (एवीआई) ने कहा कि यह भारत में 11 करोड़ धूम्रपान करने वालों के लिए काला दिन है और उन्हें सुरक्षित विकल्पों से वंचित कर दिया गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

आस्ट्रेलियाई ओपन पर बारिश का असर, सेरेना और फेडरर की जीत से शुरुआत

मेलबर्न : सेरेना विलियम्स और रोजर फेडरर ने आस्ट्रेलियाई ओपन में सोमवार को जीत से शुरुआत की जिसके बाद बारिश के कारण अफरा-तफरी का माहौल आगे पढ़ें »

आश्रय गृह केस में ब्रजेश ठाकुर समेत 19 दोषी करार

दिल्ली की अदालत अब सजा को लेकर 28 जनवरी को करेगी सुनवाई, अभियुक्तों में 12 पुरष व 8 महिलाएं नयी दिल्ली/पटनाः मुजफ्फरपुर आश्रय गृह मामले में आगे पढ़ें »

खाने में रोजाना लें यह नमक, बीमारियां रहेंगी दूर

पीएम मोदी ने याद किया कोलकाता टेस्ट, छात्रों को प्रोत्साहित करने के लिए कुंबले, द्रविड़ तथा लक्ष्मण का दिया उदाहरण

pak

पाक ने अमेरिका के सामने फैलायी झोली, कहा- एफएटीएफ की ‘निगरानी सूची’ से निकलवाए

रोड शो के कारण वक्त पर नहीं पहुंच सके केजरीवाल, अब कल करेंगे नामांकन

bangladesh

बांग्लादेशी अदालत ने राजनीतिक रैली पर बम हमले के 10 दोषियों को मौत की सजा सुनाई

momota

एनपीआर है खतरनाक खेल, एनआरसी का पूर्व संकेत : ममता

ज्वेलरी व्यापारियों को केंद्र सरकार ने भेजा नोटिस, कैट ने अपील की तारीख बढ़ाने का आग्रह किया

SUKHOI

ब्रह्मोस से लैस सुखोई आज से करेंगे हिंद महासागर की निगरानी, पाक-चीन पर नजर

ऊपर