इवांका ट्रंप ने मोदी के योगासन वीडियो को बताया ‘शानदार’

वाशिंगटन : अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी एवं उनकी वरिष्ठ सलाहकार इवांका ट्रंप ने कोरोना वायरस लॉकडाउन के दौरान लोगों को फिट रहने के लिये प्रोत्साहित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा ट्विटर पर साझा किए गए योगासन वीडियो की सराहना करते हुए उसे ‘शानदार’ बताया है।
मोदी ने किया था ट्वीट
मोदी ने ‘योग निद्रा’ का वीडियो साझा करते हुए ट्वीट किया था, ‘जब भी समय मिलता है, मैं हफ्ते में 1-2 बार योग निद्रा का अभ्यास अवश्य करता हूं।’ उन्होंने कहा, ‘इससे शरीर स्वस्थ और मन प्रसन्न रहता है, साथ ही यह तनाव और चिंता को भी कम करता है। इंटरनेट पर आपको योग निद्रा के कई वीडियो मिलेंगे। अंग्रेजी और हिन्दी में। 1 वीडियो साझा कर रहा हूं।’
इवांका ने लिखा
इवांका ने मोदी के वीडियो रिट्वीट करते हुए लिखा, ‘यह शानदार है। शुक्रिया नरेन्द्र मोदी।’ इवांका अपने पिता डोनाल्ड ट्रंप के साथ फरवरी में भारत यात्रा पर भी आई थी। अमेरिका में भारत के राजदूत तरनजीत सिंह संधू ने ट्वीट किया, ‘ योग मन और शरीर के बीच तालमेल बनाने में मदद करता है। अलग रहने के इस दौर के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी योग के माध्यम से हमें एक साथ रहना और जागरूक रहना सीखा रहे हैं।’
मृतकों की संख्या 4,076 तक पहुंची
कुछ अनुमानों के अनुसार, अमेरिका में करीब 30 लाख 60 हजार लोग योग का अभ्यास करते हैं। अमेरिका में भारतीय दूतावास ने भी सोमवार से नियमित रूप से आनलाइन योग कार्यक्रम शुरू किया है। सांसद टिम रेयान ने मंगलवार को कहा था कि लंबे समय से योग करने से उन्हें अपना मानसिक स्वास्थ्य बेहतर करने में मदद मिली है। जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के आंकड़ों के अनुसार अमेरिका में कोरोना वायरस से मृतकों की संख्या 4,076 तक पहुंच गई है जो कि शनिवार को दर्ज की गई संख्या से दोगुना है। शनिवार को मृतकों की संख्या 2,010 थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

केशपुर में वोट लूटे नहीं जाते तो भाजपा की जीत होतीः शुभेंदु

मिदनापुर: एक समय तृणमूल के हेवीवेट नेता माने जाने वाले राज्य के मंत्री रहे शुभेंदु अधिकारी तृणमूल से नाता तोड़ने के बाद भाजपा के होकर आगे पढ़ें »

voter card

तनिक भी मिली लापरवाही तो गिरेगी गाजः चुनाव आयोग

कानून व्यवस्था की रिपोर्ट से असंतुष्ट कहा नहीं मानी आयोग की बात तो कड़ी कार्रवाई सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः चुनाव आयोग ने राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति को आगे पढ़ें »

ऊपर