आसिया अंद्राबी व दो अन्य को एक माह की न्यायिक हिरासत में भेजा

आसिया अंद्राबी

नयी दिल्ली : दिल्ली की एक अदालत ने कश्मीरी अलगाववादी आसिया अंद्राबी को सोमवार को एक महीने की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। यह मामला पाकिस्तान की मदद से देश के खिलाफ कथित तौर पर युद्ध छेड़ने का है।
राष्ट्रीय जांच एजेंसी की दस दिन की हिरासत की अवधि समाप्त होने पर प्रतिबंधित संगठन दुख्तरान ए मिल्लत की प्रमुख आसिया अंद्राबी को उसकी दो महिला सहयोगियों समेत अदालत के समक्ष पेश किया गया। जिला न्यायाधीश पूनम ए बाम्बा से एनआईए ने कहा कि उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ करने की अब जरूरत नहीं है, जिसके बाद अदालत ने उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया। एनआईए ने दावा किया कि जांच में पता चला है कि पड़ोसी देश से मदद पाने के लिए वे गहन अभियान चला रही थीं। साथ ही आरोप लगाया कि वे साजिश में लिप्त रहीं और ‘भारत की संप्रभुता तथा अखंडता को गंभीर रूप से नुकसान पहुचांने के इरादे से’ काम कर रही थीं। तीनों आरोपितों को तिहाड़ जेल में रखा गया है। आसिया अंद्राबी के अलावा उसकी सहयोगियों सोफी फहमीदा और नाहिदा नसरीन को भी न्यायिक हिरासत में भेजा गया। तीनों महिलाओं के खिलाफ इस वर्ष अप्रैल माह में मामला दर्ज किया गया था। जम्मू – कश्मीर उच्च न्यायालय ने पिछले महीने अंद्राबी की जमानत अर्जी रद्द कर दी थी। तब से वह जेल में बंद है। केंद्रीय गृह मंत्रालय के निर्देश पर एनआईए ने महिलाओं तथा उनके संगठन के खिलाफ मामला दर्ज किया था। उक्त संगठन पर गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम, 1967 के तहत इस वर्ष अप्रैल में प्रतिबंध लगाया गया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

trump

ट्रंप ने ईरान के शीर्ष नेता को चेताया, कहा- संभलकर बोले खामनेई

वाशिंगटन : ईरान के शीर्ष नेता अयातुल्ला अली खामनेई के जोकर वाले बयान का कड़ा जवाब देते हुए अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शनिवार आगे पढ़ें »

bhagwat

भारत में सभी के पूर्वज हिंदू, यह हिंदुओं का देश है : मोहन भागवत

मुरादाबाद : मुरादाबाद के दौरे पर आए संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि शांति के रास्ते पर हम तब चल सकेंगे जब हमारे पास आगे पढ़ें »

ऊपर