अस्पताल में सीनियर लगातार जाति को लेकर करते थे रैगिंग और टॉर्चर, तंग होकर महिला डॉक्टर ने की सुसाइड

आरोपित डॉक्टरों के लाइसेंस रद्द कर दिए गए

नई दिल्ली : मुंबई के एक सरकारी अस्पताल की महिला डॉक्टर ने अपने उपर लगातार किए जा रहे जातिगत टिप्पणी से तंग होकर आत्महत्या कर ली। 23 वर्षीय गायनेकोलॉजिस्ट का आरोप था कि उसके सीनियर उसके उस पर अक्सर उसकी जाति से संबंधित अपमानजनक टिप्पणियां करते रहते थे।

22 मई को बीवायएल नायर अस्पताल में अपने केबिन में पायल सलमान तड़वी को मृत अवस्था में पाया गया। वह अस्पताल में महिला संबंधित स्वास्थ्य समस्याओं (गायनेकॉलोजिस्ट) को देखती थी। महाराष्ट्र असोसियेशन ऑफ डॉक्टर्स ने उन तीन आरोपित डॉक्टरों के लाइसेंस को रद्द कर दिया है।

परेशान करने वाली डॉक्टर भी महिलाएं थी

ये तीनों डॉक्टर महिला थी जिनके नाम हेमा आहूजा, भक्ति मेहर और अंकिता खंडेलवाल है।

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी दीपक कुंदल ने कहा कि उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिया गया है। उन पर एससी एसटी पर आपत्तिजनक टिप्पणियां करने पर गैरजमानती वारंट जारी किया गया है।

मृतका की मां जो कैंसर पीड़ित है ने बताया कि अस्पताल प्रबंधन को इस बारे में शिकायत की थी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। पीड़िता अपनी मां को फोन पर बताती थी कि उनकी तीनों सीनियर उसकी ट्राइबल जाति को लेकर मजाक बनाया करती थी। मृतका की मां ने कहा कि हमें इस पर न्याय चाहिए।

अस्पताल में ऐसा कोई शिकायत दर्ज नहीं कराया गया

उधर अस्पताल प्रबंधन ने कहा है कि हमें इस बारे में अब तक कोई शिकायत नहीं मिली है जिस के आधार पर हम कोई कार्रवाई कर सकें। उनका कहना था कि ये सभी आरोप बेबुनियाद हैं।

उन्होंने बताया कि अस्पताल ने उन तीनों आरोपित डॉक्टरों को बुलावा भेजा है, फिलहाल वे मुंबई में नहीं है। अस्पताल के डीन ने बताया कि आरोप साबित होने पर जितना जल्दी हो सके हम उन पर कार्रवाई शुरू करेंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टाला ब्रिज पर डायवर्सन के कारण 100 मिनी बसें चलाएगा परिवहन विभाग

वाहनों के डायवर्सन से यात्रियों को नहीं होगी समस्याः शुभेन्दु अधिकारी कोलकाताः टाला ब्रिज पर बस व भारी वाहनों की पाबंदी के बाद बड़े पैमाने पर आगे पढ़ें »

बीजीबी की कार्रवाई बेवजह, हमने नहीं चलाई एक भी गोलीः बीएसएफ

मुर्शिदाबादः बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश (बीजीबी) के जवानों ने बीएसएफ के जवान को लक्ष्य कर जानबूझकर चलायी थी गोली। यह मानना है सीमा पर तैनात बीएसएफ आगे पढ़ें »

ऊपर