असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई का निधन

गुवाहाटी : असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई का सोमवार को निधन हो गया। वे 84 साल के थे। उन्हें अगस्त में कोरोना हुआ था। वे एक बार ठीक हो चुके थे, लेकिन पोस्ट कोविड कॉम्प्लिकेशंस से जूझ रहे थे। गुवाहाटी के मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में उन्होंने शाम 5 बजकर 34 मिनट पर आखिरी सांस ली। वे तीन बार असम के मुख्यमंत्री रहे। प्रधानमंत्री मोदी ने उनके निधन पर शोक जताया है।

गोगोई का रविवार को 6 घंटे तक डायलिसिस किया गया था, लेकिन शरीर में फिर से टॉक्सिन जमा हो गए। इसके बाद उनका शरीर इस स्थिति में नहीं था कि दोबारा डायलिसिस किया जा सके।

कोरोना होने पर 2 महीने अस्पताल में रहे

गौरतलब है कि, गोगोई 2 नवंबर से अस्पताल में भर्ती थे। शनिवार को हालत बिगड़ने पर उन्हें वेंटिलेटर पर शिफ्ट करना पड़ा। 25 अगस्त को उन्हें कोरोना संक्रमण का पता चलने पर अगले दिन गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया था। कोरोना के चलते दूसरे कॉम्प्लिकेशंस होने की वजह से उन्हें 2 महीने अस्पताल में रखने के बाद 25 अक्टूबर को छुट्टी दी गई थी।

सबसे लंबे समय तक रहे असम के सीएम

गोगोई का जन्म 1 अप्रैल 1936 को हुआ था। वे 2001 से 2016 तक असम के मुख्यमंत्री रहे। गोगोई ने कांग्रेस को लगातार तीन विधानसभा चुनावों में जीत दिलाई। सबसे लंबे समय तक असम का मुख्यमंत्री रहने का रिकॉर्ड भी उनके नाम है।

छह बार लोकसभा के लिए चुने गए

गोगोई 6 बार लोकसभा के लिए चुने गए। वे 1971 से 1985 तक तीन बार जोरहट से सांसद रहे। उसके बाद 1991-96 और 1998-2002 के दौरान कालीबोर के सांसद रहे। अभी इस सीट से उनके बेटे गौरव गोगोई सांसद हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

नंदीग्राम में ममता की सभा में लाखों की भीड़ उमड़ने की उम्मीद

सन्मार्ग संवाददाता खड़गपुर/नंदीग्राम : नये वर्ष के दूसरे सप्ताह से ही तृणमूल सुप्रीमों और राज्य की मुख्यमंत्री जिलों के दौरे पर निकल रहीं हैं और उसकी आगे पढ़ें »

सांसद पड़े नरम, पहुंचे हावड़ा में आयोजित तृणमूल की रैली में

सौगत ने सांसद प्रसून को किया फोन अरूप राय के नेतृत्व में निकाली गयी रैली में प्रसून व भाष्कर भट्टाचार्य राजीव, लक्ष्मीरतन व वैशाली नहीं हुए शामिल हावड़ा आगे पढ़ें »

ऊपर