अब गंतव्य राज्यों से श्रमिक विशेष ट्रेन चलाने के लिए नहीं लेनी पड़ेगी सहमति : रेलवे

नयी दिल्ली : रेलवे ने मंगलवार को कहा कि श्रमिक विशेष ट्रेनों के परिचालन के लिए गंतव्य राज्यों की सहमति की जरूरत नहीं है। गृह मंत्रालय ने प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्यों में पहुंचाने के लिए इन ट्रेनों को चलाने के वास्ते रेलवे के लिए मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी की। रेलवे के प्रवक्ता राजेश बाजपेई ने कहा, ‘श्रमिक विशेष ट्रेनों को चलाने के लिए उन राज्यों की सहमति की आवश्यकता नहीं है जहां यात्रा समाप्त होनी है।’ उन्होंने कहा, ‘नई एसओपी के बाद उस राज्य की सहमति लेना अब आवश्यक नहीं है जहां ट्रेन का समापन होना है।’ रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा था कि पश्चिम बंगाल, झारखंड और छत्तीसगढ़ इन ट्रेनों को मंजूरी देने के मामले में पीछे हैं। गौरतलब है कि गत एक मई से रेलवे ने 1,565 प्रवासी श्रमिक ट्रेनों का परिचालन किया है और 20 लाख से अधिक प्रवासियों को उनके गृह राज्यों में पहुंचाया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

यूएस ओपन में भाग लेना संदिग्ध : जोकोविच

बेलग्राद : अपने एड्रिया टूर के दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित हुए विश्व के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने अपनी आलोचना आगे पढ़ें »

ओलंपिक : प्रत्येक राज्य से एक-एक खेल चुनने को कहा गया है : रीजीजू

नयी दिल्ली : खेल मंत्री किरेन रीजिजू ने बुधवार को कहा कि सरकार ने ओलंपिक में ज्यादा से ज्यादा पदक हासिल करने की मुहिम के आगे पढ़ें »

ऊपर