अब क्षेत्रीय भाषाओं में भी कर सकेंगे इन भाषाओं की पढ़ाई…

नई दिल्ली : अगर आप इंजीनियरिंग की पढ़ाई करना चाहते हैं और आपके समक्ष भाषा की समस्या है तो यह आपके लिए खुशी की खबर है। दरअसल, केंद्र सरकार ने क्षेत्रीय भाषाओं में पढ़ने वाले छात्रों के लिए एक बड़ा फैसला लिया है। उक्त फैसले के अनुसार अगले शैक्षणिक सत्र से इंजीनियरिंग सहित सभी तकनीकी पाठ्यक्रम क्षेत्रीय भाषाओं में भी पढ़ाए जाएंगे। केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक में यह महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया है। इसके लिए मंत्रालय ने कुछ आईआईटी और एनआईटी को सूचीबद्ध भी किया है।

बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी जो जेईई(मेन) और नीट आयोजित कराती है, वह प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए सिलेबस भी तैयार करेगी। साथ ही यूजीसी को भी निर्देशित किया गया है कि समय पर ही छात्रवृत्ति का वितरण हो और उसके लिए एक हेल्पलाइन भी जल्द शुरू की जाए और छात्रों की सभी शिकायतों का तुरंत हल किया जाए।

एनटीए ने की थी नौ भाषाओं में परीक्षा की घोषणा

एनटीए ने पिछले महीने 2021 से हिंदी और अंग्रेजी के अलावा नौ क्षेत्रीय भाषाओं में जेईई (मेन) आयोजित करने के अपने फैसले की घोषणा की थी। हालांकि, आईआईटी ने इस बारे में अभी कोई फैसला नहीं लिया है। आईआईटी और एनआईटी के फैसले के बाद ही यह निर्णय अंतिम माना जाएगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

tmc

बौखला उठे हैं भाजपा प्रवक्ता, मर्यादा की सारी सीमाएं लांघ रहे हैं

तृणमूल को बांग्लादेशी पार्टी कहा, प्रवक्ता को बंगलादेशी सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : जैसे - जैसे विधानसभा चुनाव करीब आ रहा है वैसे - वैसे भाजपा में बौखलाहट आगे पढ़ें »

मुख्यमंत्री के साथ हुए व्यवहार पर नरेंद्र मोदी ने एक शब्द नहीं कहा – तृणमूल

पीएम के रवैये पर तृणमूल ने जताया खेद सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर विक्टोरिया मेमोरियल में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ममता आगे पढ़ें »

ऊपर