अनोखा तिरंगा बनाने का जुनून ऐसा की बेच दिया अपना घर

विशाखापट्नम: राष्ट्रध्वज को लेकर ऐसा जज्बा की उसे तैयार करने के लिए आंध्र प्रदेश के रहने वाले रुद्राक्षला रामालिंगा सत्यानारायण ने अपना घर बेच दिया। दरअसल, रामलिंगा का सपना था कि वे एक हैंडलूम का एक ऐसा तिरंगा बुनें, जो कि बिना किसी सिलाई या अटैचमेंट के एक ही कपड़े से तैयार हो। ऐसा करने के लिए सत्यनारायण को 6.5 लाख रुपये की जरूरत थी और अपने इस सपने को पूरा करने के लिए उन्होंने अपने पैतृक घर तक को बेच दिया।

पहले ऐसा कोई भी राष्ट्रीय ध्वज तैयार नहीं किया गया

8 फीट से लेकर 12 फीट तक का यह राष्ट्रीय ध्वज बुनकर एक प्रकार से प्रयोग किया गया है। एक रिपोर्ट के अनुसार, इसे लेकर सत्यनारायण का दावा है कि इससे पहले ऐसा कोई भी राष्ट्रीय ध्वज तैयार नहीं किया गया है, जिसे नारंगी, सफेद और हरे रंग के खादी धागों से एकसाथ बुना गया हो।

सत्यनारायण का पहला सपना था कि वे इस तिरंगे को तैयार करें और जब उनका यह सपना पूरा हो गया तो वे अपने अगले सपने की तरफ आगे बढ़ रहे हैं। सत्यनारायण चाहते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंन्द्र मोदी स्वतंत्रता दिवत के मौके पर यह तिरंगा लाल किले पर फहराएं। वीमावरन के रहने वाले सत्यनारायण ने प्रधानमंत्री के विशाखापट्नम दौरे के दौरान उन्हें यह तिंरगा सौंपा था, लेकिन सत्यानाराण प्रधानमंत्री को इसकी खासियत नहीं बता पाए। सत्यनारायण ने बताया कि इस तिरंगे को तैयार करने में चार साल तक का समय लगा है।

शॉट फिल्म देखकर मिली प्रेरणा

रिपोर्ट के अनुसार, सत्यनारायण से जब पूछा गया कि तिंरगे को बनाने की दिलचस्पी उनके अंदर कैसे जागी, तो इसपर उन्होंने कहा कि उन्होंने शॉर्ट फिल्म लिटिल इंडियन्स देखी थी, जिसमें अभिनेता ने तिरंगे को एक साथ सिला था। बस उसी फिल्म को देखकर सत्यनारायण के अंदर बिना सिलाई और बिना किसी अटैचमेंट वाला तिंरगा तैयार करने की इच्छा जागी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मार्ग एक्सक्लूसिव :आर्थिक पैकेज से हर वर्ग को राहत, न अन्न की कमी, न धन की : ठाकुर

 विशेष संवाददाता, कोलकाता : कोविड-19 संकट के आघात से देश और देश की अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए केंद्र सरकार हरसंभव कोशिश कर रही है। आगे पढ़ें »

बैडमिंटन : मंत्रालय की गाइडलाइंस के बाद कोर्ट पर उतरे लक्ष्य

नयी दिल्‍ली : स्पोर्ट्स ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (साई) की गाइडलाइंस के बाद बेंगलुरु में पादुकोण-द्रविड़ सेंटर ऑफ एक्सीलेंस अकादमी में बैडमिंटन खिलाड़ियों ने प्रैक्टिस शुरू आगे पढ़ें »

ऊपर