नागरिकता बिल पर बोलने वाले पाकिस्तान और अमेरिका होते कौन हैं : राम माधव

madhav

नई दिल्ली : नागरिकता संशोधन विधायक सोमवार देर रात लोकसभा से पास होने के बाद पाकिस्तान ने इस पर कड़ी आपत्ति जताई है। साथ ही एक अमेरिकी संस्था ने भी इस विधेयक के खिलाफ टिप्पणी की है। इनकी टिप्पणी पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दिग्गज नेता राम माधव ने कहा कि नागरिकता संशोधन विधेयक भारत का आंतरिक मामला है। अमेरिका और पाकिस्तान हमारे आंतरिक मामले में हस्तक्षेप करने वाले कौन होते हैं।

विपक्षी पार्टियां भी कर रही इसका विरोध

वहीं, विपक्षी पार्टियां भी नागरिकता संशोधन विधेयक का विरोध कर रही हैं। इस विरोध के साथ-साथ वे इसे धार्मिक आधार पर लागू कराने को लेकर आपत्ति जता रही हैं। मालूम हो कि अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की विदेश मामलों की स्थायी समिति ने भारत के उस नागरिकता संशोधन विधेयक (कैब) से खुलकर असहमति जताई है, जिसमें पाकिस्तान और बांग्लादेश जैसे देशों के गैर-मुस्लिम अल्पसंख्यकों को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान है।

धार्मिक बहुलता दोनों देशों की बुनियाद का केंद्रीय तत्व : समिति

भाजपा नेतृत्व वाली सरकार ने इस विवादास्पद विधेयक को लोकसभा में पेश किया है। इस विवादास्पद विधेयक पर टिप्पणी करते हुए सदन की विदेश मामलों की समिति ने ट्वीट कर कहा कि ‘धार्मिक बहुलता भारत और अमेरिका दोनों की बुनियाद का केंद्रीय तत्व है और यह हमारा एक प्रमुख साझा मूल्य भी है। नागरिकता का कोई भी धार्मिक पक्ष इस बुनियादी लोकतांत्रिक सिद्धांत को कमजोर कर देगा।’ उन्होंने कहा कि अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की एक स्थायी समिति के रूप में सदन की विदेश मामलों की समिति के पास विधेयकों और अमेरिकी विदेशी मामलों से संबंधित छानबीन का अधिकार है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

12 अगस्‍त को दुनिया की पहली कोरोना वैक्‍सीन होगी पंजीकृत

वायरस टीके के लिए रूस की जल्दबाजी ने पश्चिम में चिंताएं बढायीं मॉस्को : दुनियाभर में जहां कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो आगे पढ़ें »

बीसीसीआई का दावा, यूएई में आईपीएल कराने को केंद्र सरकार की हरी झंडी

नयी दिल्ली : भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) को इस साल इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में कराने की मंजूरी मिल गयी है आगे पढ़ें »

ऊपर