उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता ने तोड़ा दम, पिता ने की हैदराबाद एनकाउंटर जैसी सजा की मांग

unnaos

नई दिल्ली/उन्नाव : उन्नाव गैंगरेप पीड़िता ने शुक्रवार रात 11.40 बजे दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया। 95 फीसदी जल चुुकी पीड़िता को हालत लगातार बिगड़ने के बाद एयरलिफ्ट कर गुरुवार रात दिल्ली लाया गया था। यहां सफदरजंग अस्पताल में उसका इलाज चल रहा था। दरअसल गुरुवार सुबह ही उन्नाव में 5 आरोपियों ने उस पर पेट्रोल डालकर जला दिया था। आरोपियों में से एक पीड़िता के साथ हुए गैंगरेप का मुख्य आरोपी है। बता दें कि पीड़िता के शव को पोस्टमॉर्टम के बाद लखनऊ के रास्ते से उन्नाव लाया जाएगा।

दौड़ाकर गोली मारी जाए, या फिर फांसी दी जाए

इस बीच अपनी बेटी की मौत से सदमें में पहुंचे पिता ने दोषियों के लिए हैदराबाद एनकाउंटर जैसी सजा की मांग की है। उन्होंने कहा कि ‘हमें हैदराबाद जैसा इंसाफ मिलना चाह‌िए।’ उनके अनुसार दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा देने की कोई आवश्यकता नहीं। बस, उनके साथ वो किया जाए, जो हैदराबाद पुलिस ने किया। या फिर दौड़ाकर गोली मारी जाए। या फिर फांसी दी जाए।

कम से कम हो फांसी की सजा

वहीं उन्नाव रेप पीड़िता की बहन ने कहा है कि उनके साथ न्याय नहीं हुआ। उन्होंने मीडिया से बात करते हुए बताया कि, ‘इस मामले में दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाए। हमारे साथ न्याय नहीं हुआ। न तो समय पर पुलिस ने लिखी। न ही हमसे यहां पर कोई मिलने आया है।’ रेप पीड़िता के भाई ने दोषियों को मौत की सजा दी जाने की मांग की है। पीड़िता के भाई का कहना है कि, ‘मेरे पास अब कहने के लिए कुछ बाकी नहीं है। मेरी बहन अब हमारे बीच नहीं है। मेरी सिर्फ यही मांग है कि सभी पांच आरोपियों को कम से कम फांसी की सजा सुनाई जाए।’

आरोपी लगातार परिवार को धमका रहे थे

पीड़िता की मौत के बाद परिवार ने दोषियों द्वारा लगातार धमकाए जाने की बात कही है। उन्नाव रेप पीड़िता के पिता ने कहा, ‘आरोपी लगातार हमारे परिवार को धमका रहे थे। वे गालियां देने के साथ ही मार डालने और जला देने की धमकियां दे रहे थे। वे कहते थे कि पूरे परिवार को बर्बाद कर देंगे।’ बता दें करीब 40 घंटे तक 95 फीसदी जल चुकी पीड़िता का इलाज चला जिसके बाद उसने दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया।

पीड़िता को आया था कार्डिएक अरेस्‍ट

सफदरजंग अस्पताल के बर्न एवं प्लास्टिक सर्जरी विभाग के प्रमुख डॉ. शलभ कुमार ने बताया, ‘हमने बहुत कोशिश की लेकिन पीड़िता को नहीं बचा सके। शाम को उसकी हालत बिगड़ती जा रही थी। रात 11.10 बजे उसे कार्डिएक अरेस्‍ट आया। हमने तुरंत इलाज शुरू कर उसे बचाने का भरसक प्रयास किया। लेकिन 11 बजकर 40 मिनट पर उसकी मौत हो गई।’ पीड़िता के शव को पोस्‍टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है।

जमानत पर बाहर आया था आरोपी

गौरतलब है कि उन्नाव के बिहार थाना इलाके में गुरुवार तड़के रेप पीड़िता (20) को पांच लोगों ने पैट्रोल डालकर जिंदा जला दिया था। घटना में शामिल सभी पांचों आरोपियों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। पीड़िता ने थाने में शिकायत दर्ज कराई थी कि शिवम त्रिवेदी नाम के व्यक्ति ने उसे प्रेम का झांसा देकर उसे रायबरेली ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया। त्रिवेदी पर पीड़िता ने आरोप लगाया था कि उसका वीडियो बनाकर वह वायरल करने की धमकी देता था और उसके साथ लगातार दुष्कर्म करता रहा। जब पीड़ित ने शादी का दबाव बनाया तो शिवम नहीं माना। बता दें कि पीड़िता को जलाने वाले एक अन्‍य आरोपी ने भी उससे दुष्कर्म किया था जो कुछ दिन पहले ही जमानत पर बाहर आया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वेस्टइंडीज जीत के करीब, इंग्लैंड ने दूसरी पारी में 313 रन बनाए

साउथैम्पटन : इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में वेस्टइंडीज जीत की ओर है। मैच के पांचवें दिन टी ब्रेक तक मेहमान टीम ने 4 विकेट के आगे पढ़ें »

पगबाधा का फैसला सिर्फ और सिर्फ डीआरएस से हो : तेंदुलकर

नयी दिल्ली : महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अंपायरों के फैसलों की समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को ‘अंपायर्स कॉल’ को हटाने आगे पढ़ें »

ऊपर