भारतीय अर्थव्यवस्‍था की सुस्ती है अस्‍थायी, जल्द हो सकता है सुधार : आईएमएफ

imf

नई दिल्ली : अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) की प्रमुख क्रिस्टालिना जियॉर्जिवा ने भारतीय अर्थव्यवस्‍था में आई सुस्ती को अस्‍थायी बताया है। दावोस में आयोजित विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) 2020 को संबोधित करते हुए जियॉर्जिवा ने शुक्रवार को कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्‍था में जो सुस्ती आई है, उसमें जल्द ही सुधार की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि अक्टूबर 2019 में आईएमएफ ने वैश्विक आर्थिक परिदृश्य की घोषणा की थी, उसकी तुलना में जनवरी 2020 में विश्व की स्थिति बेहतर नजर आ रही है। इस बेहतर स्थिति के लिए उन्होंने अमेरिका और चीन के बीच पहले दौर के व्यापार समझौते के बाद व्यापार तनाव में आई कमी को जिम्मेदार बताया है। साथ ही कर में कटौतियों के कारण भी वैश्विक माहौल को सकारात्मक बनाने में मदद मिली है।

वै‌श्‍विक अर्थव्यवस्‍था की विकास दर 3.3 प्रतिशत

उन्होंने आगे कहा, बेहतर स्थिति के बावजूद वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए 3.3 प्रतिशत की आर्थिक वृद्धि दर को अच्छा नहीं कहा जा सकता। यह विकास दर अब भी सुस्त ही है। हमारा मानना है कि सरकार को राजकोषीय नीतियों को अधिक आक्रामक बनाना होगा। साथ ही इनकी संरचना में सकारात्मक बदलाव लाने होंगे जिससे विकास दर में तेजी हासिल हो सके।’

भारत है एक बड़ा बाजार, जल्द आएगी तेजी

जियॉर्जिवा ने उभरते बाजारों के बारे में बात करते हुए भारत का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि भारत जैसे एक बड़े बाजार में हमने गिरावट दर्ज की है। लेकिन हमें लगता है कि यह सुस्ती अस्थायी है और जल्द ही इसमें तेजी आ सकती है। इसी तरह इंडोनेशिया और वियतनाम जैसे कुछ अन्य बेहतर बाजार भी हैं। साथ ही कई अफ्रीकी देश भी इस मामले में बेहतर नजर आ रहे हैं लेकिन मैक्सिको जैसे देशों की स्थिति को अच्छा नहीं कहा जा सकता।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

जब तांत्रिक ने 7 लाख में बेचे 4 कबूतर

बोला - बेटे की मौत टल जाएगी, फिर... महाराष्ट्र : महाराष्ट्र में रहने वाला एक परिवार अंधविश्वास के चक्कर में ऐसा पड़ा कि उसके 7 लाख आगे पढ़ें »

हम तेजस्वी यादव बोल रहे हैं, डीएम साहब’

पटना :  बिहार  के पूर्व उप मुख्यमंत्री और विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव  बुधवार को टीईटी पास शिक्षक अभ्यर्थियों के लिए तारणहार की भूमिका में आगे पढ़ें »

ऊपर