सिद्धू को मिली करतारपुर जाने की राजनीतिक मंजूरी

Navjot Singh Siddhu

नई दिल्ली : पंजाब कांग्रेस के नेता नवजोत सिंह सिद्धू को शनिवार को पाकिस्तान में होने वाले करतारपुर गलियारा उद्घाटन समारोह में शामिल होने की राजनीतिक मंजूरी सरकार से मिल गई। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा निमंत्रण मिलने के बाद सिद्धू ने विदेश मंत्रालय से कार्यक्रम में शामिल होने की इजाजत मांगी थी। सूत्र ने कहा कि सिद्धू को नौ नवंबर को करतारपुर साहिब गलियारा की यात्रा की राजनीतिक मंजूरी दे दी गई है।

 सिद्धू ने तीन बार लिखी विदेश मंत्रालय को चिट्ठी

पंजाब सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने गुरूवार को एक बार फिर से विदेश मंत्री एस. जयशंकर को पत्र लिखते हुए नौ नवंबर को पाकिस्तान में करतारपुर गलियारे के उद्घाटन समारोह में शामिल होने की अनुमति मांगी है। हालांकि श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के अवसर पर बुधवार को आयोजित पंजाब विधानसभा के विशेष सत्र में वे अनुपस्थित रहे। सिद्धू ने विदेश मंत्री जयशंकर को यह तीसरी चिट्ठी लिखते हुए पूछा कि मुझे पाकिस्तान जाने की अनुमति है या नहीं, यह स्पष्ट करें। बता दें कि पाकिस्तान में करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन कार्यक्रम में शामिल होने के लिए सिद्धू इसके पूर्व दो बार पत्र लिख चुके हैं।

नहीं आई विदेश मंत्रालय की ओर से कोई प्रतिक्रिया

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, सिद्धू ने 7 नवंबर को विदेश मंत्री से पाकिस्तान जाने के लिए इजाजत मांगने के संबंध में एक और चिट्ठी लिखी। चिट्ठी में लिखा गया है कि कई बार याद दिलाने के बावजूद भी आपकी ओर से अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। मुझे अब तक यह नहीं पता कि करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह में शामिल होने के लिए मुझे पाकिस्तान जाने की अनुमति मिली है या नहीं।

बता दें कि इससे पहले बुधवार को सिद्धू ने दूसरी बार नौ नवंबर को पाकिस्तान में करतारपुर गलियारे के उद्घाटन समारोह में शामिल होने की अनुमति मांगी थी।

करतारपुर जाने को प्रस्तुत किए दो विकल्प

सिद्धू ने इस पत्र में लिखा है कि 9 नवंबर को सुबह साढ़े नौ बजे कॉरिडोर के जरिये वे पाकिस्तान पहुंचना चाहते हैं जिससे कि 11 बजे होने वाले करतारपुर गलियारे के उद्घाटन समारोह में शामिल हो सकें। उन्होंने बताया कि सिद्धू गुरुद्वारा दरबार साहिब करतारपुर में मत्था टेकेंगे और संगत के साथ लंगर छकेंगे। उद्घाटन समारोह में शामिल होने के बाद शाम को भारत लौट आएंगे।

पत्र में आगे उन्‍होंने लिखा है कि मंत्रालय अगर कॉरिडोर के रास्ते जाने की मंजूरी नहीं दे सकता तो अटारी-वाघा सड़क मार्ग के ज‌रिए उन्हें गुरुद्वारा दरबार साहिब करतारपुर जाने की इजाजत दी जाए। इसके लिए सिद्धू 8 नवंबर को पाकिस्‍तान जाएंगे और रात को करतारपुर गुरुद्वारे में ठहरेंगे। अगले दिन उद्घाटन समारोह में शिरकत करने के बाद भारत वापस आ जाएंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 9 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे और पहले जत्थे को रवाना करेंगे। इसी दिन पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भी अपने हिस्से के कॉरिडोर का उद्घाटन करने वाले हैं।

शनिवार को भी मांगी थी इजाजत

पत्र के अंत में कांग्रेस नेता ने लिखा, ” आपके (मंत्रालय) जवाब से मेरे भविष्य की गतिविधि निर्धारित होगी।” उल्लेखनीय है कि सिद्धू ने शनिवार को भी विदेश मंत्रालय से पाकिस्तान में करतारपुर गलियारे के उद्घाटन समारोह में हिस्‍सा लेने की इजाजत मांगी थी। क्रिकेट खिलाड़ी से नेता बने सिद्धू ने इसके पूर्व पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को पत्र लिखा था जिसे उन्होंने आगे की कार्रवाई के लिए मुख्य सचिव के पास भेज दिया था।

4 नवंबर को मिला था पाकिस्तान की ओर से निमंत्रण

गौरतलब है कि 4 नवंबर को सिद्धू को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान की ओर से करतारपुर गलियारे के उद्घाटन समारोह में शामिल होने के लिए निमंत्रण प्राप्त हुआ था जिसमें क्रम संख्या ‘0001 लिखा था। बता दें कि करतापुर गलियारे के जरिये भारतीय श्रद्धालु रावी नदी के उस पार पाकिस्तान के नरोवाल जिला स्थित करतारपुर साहिब का दर्शन करने के लिए जा सकेंगे। यह गलियारा पाकिस्तान के करतारपुर स्थित दरबार साहिब को भारत के पंजाब में गुरदासपुर के डेरा बाबा नानक गुरुद्वारे से जोड़ेगा। हालांकि, उन्हें मंजूरी प्राप्त करनी होगी।

इमरान के शपथ ग्रहण समारोह में लिया था हिस्सा

सिद्धू पिछले साल अगस्त में उस समय निशाने पर आ गए थे जब वह पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने गए थे और वहां के सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा को गले लगाया था। कांग्रेस नेता ने तब दावा किया था कि बाजवा ने करतारपुर गलियारा खोलने संबंधी कोशिशों की जानकारी दी थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

गुरु नानक के नाम पर भवन बनायेगी राज्य सरकार

कोलकाता : सोमवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने घोषणा की कि सिख गुरुओं के पहले गुरु और सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक की 550वीं आगे पढ़ें »

तेज रफ्तार से आ रही स्कूल बस लैंप पोस्ट से टकरायी, 20 घायल

कोलकाता : ड्राइवर द्वारा नियंत्रण खोने से तेज रफ्तार स्कूल बस लैंप पोस्ट से जा टकरायी। घटना चितपुर थानांतर्गत पी.के मुखर्जी रोड व काशीपुर रोड आगे पढ़ें »

ऊपर