शिवसेना हिंदुत्व की विचारधारा से नहीं हटेगी, फडणवीस अच्छे दोस्त-उद्धव ठाकरे

मुंबई : महाराष्ट्र विधानसभा में रविवार को सर्वसम्मति से नाना पटोले को स्पीकर चुन लिया गया। साथ ही बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस महाराष्ट्र विधानसभा के नेता विपक्ष बने। सदन की कार्यवाही के दौरा सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि मैं एक भाग्यशाली मुख्यमंत्री हूं क्योंकि जिन्होंने मेरा विरोध किया वे अब मेरे साथ हैं और जो मेरे साथ थे वे अब विपरीत दिशा में हैं। उद्धव ने आगे कहा कि मैं यहां अपनी किस्मत और लोगों के आशीर्वाद के साथ हूं। मैंने कभी किसी को नहीं बताया कि मैं यहां आऊंगा लेकिन मैं आ गया। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को विपक्ष के हिंदुत्व के सवाल पर जवाब दिया। उन्होंने कहा कि अपनी बात पर कायम रहना ही उनका हिंदुत्व है। बता दें कि कांग्रेस से गठबंधन के बाद से ही देवेंद्र फडणवीस और बीजेपी उद्धव ठाकरे को हिंदुत्व के सवाल पर घेरते रहे हैं, जिस पर उन्होंने जवाब दिया है।

मै अभी भी हिंदुत्व की विचारधारा के साथ हूं

मुख्यमंत्री ठाकरे ने कहा, “मैंने देवेंद्र फडणवीस से बहुत सी चीजें सीखी हैं और मैं हमेशा उनसे दोस्ती रखूंगा। मैं अभी भी ‘हिंदुत्व’ की विचारधारा के साथ हूं और इसे कभी नहीं छोड़ूंगा। पिछले 5 वर्षों में मैंने कभी भी सरकार को धोखा नहीं दिया है।” सीएम ने कहा, “मैंने आपको (देवेंद्र फड़नवीस) ‘विपक्ष का नेता’ नहीं बल्कि एक ‘जिम्मेदार नेता’ कहूंगा। अगर आप हमारे लिए अच्छे होते, तो यह सब (भाजपा-शिवसेना में फूट) नहीं होती।”

फडणवीस बने विपक्ष के नेता

महाराष्ट्र बीजेपी विधायक दल के नेता देवेंद्र फडणवीस को रविवार को विधानसभा में नेता विपक्ष बनाया गया। मुख्यमंत्री ठाकरे और कुछ मंत्रियों ने फडणवीस को बधाई दी। फडणवीस ने कहा था कि कांग्रेस और राकांपा के साथ आने के लिए शिवसेना ने अपनी विचारधारा से समझौता किया है। उन्होंने बताया कि भाजपा ने शनिवार को किशन कठोरे को स्पीकर पद के लिए नामित किया था। लेकिन रविवार को सर्वदलीय बैठक के बाद पार्टी ने उम्मीदवारी वापस ले ली। फडणवीस ने कहा कि हमने सर्वदलीय बैठक में दूसरे दलों की अपील पर कठोरे का नाम वापस लिया, क्योंकि महाराष्ट्र में निर्विरोध स्पीकर चुनने की परंपरा रही है। 5 साल में कभी सरकार के साथ धोखा नहीं किया।

महागठबंधन को मिले 169 मत

इससे पहले शनिवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अगुवाई में महाराष्ट्र विकास अघाड़ी (एमवीए) ने 288 सदस्यीय महाराष्ट्र विधानसभा में विश्वास मत हासिल कर लिया. शिवसेना-राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस के महागठबंधन को विश्वास मत के लिए न्यूनतम 145 वोट की जरूरत थी लेकिन उन्हें कुल 169 मत मिले। भारतीय जनता पार्टी के 105 विधायकों ने विधानसभा से वॉकआउट किया, जबकि चार विधायक तटस्थ रहे और उन्होंने वोटिंग में हिस्सा नहीं लिया।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

हैदराबाद के खिलाफ जीत का खाता खोलने उतरेगी केकेआर

अबुधाबी : इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के शुरूआती मुकाबले में कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के कप्तान दिनेश कार्तिक की योजनाओं की आलोचना हुई जो शनिवार आगे पढ़ें »

सुआरेज को टीम से हटाने पर बार्सीलोना पर भड़के मेस्सी

बार्सीलोना : दिग्गज फुटबॉलर लियोनल मेस्सी ने साथी खिलाड़ी लुइस सुआरेज को टीम से हटाने पर अपनी फ्रेंचाइजी बार्सीलोना की आलोचना की। अर्जेंटीना के मेस्सी आगे पढ़ें »

गुरप्रीत और संजू बने साल के सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर

आस्ट्रेलिया ने अफगानिस्तान व न्यूजीलैंड के खिलाफ आगामी सीरीज स्थगित की

भारत ने अफगानिस्तान में शांति, पुनर्निर्माण के प्रति अपनी दीर्घकालीन प्रतिबद्धता को दोहराया

कोलकाता में आईपीएल मैच पर सट्टा लगाने के आरोप में नौ लोग गिरफ्तार

लेह-लद्दाख में 5.6 तीव्रता वाले भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए

yes bank

यस बैंक मामला: ईडी ने राणा कपूर के 127 करोड़ रुपये के लंदन फ्लैट को कुर्क किया

भारत का संरा में खुलासा : आतंकियों के रणनीतिक बदलाव के निशाने पर स्वास्थ्य कार्यकर्ता व सुरक्षाबल

नीतीश ने संयुक्त राष्ट्र में दी जलवायु परिवर्तन पर बिहार सरकार के प्रयासों की जानकारी

ऊपर