शिया वक्फ बोर्ड प्रमुख वसीम रिजवी बोले- ओवैसी और बगदादी में कोई अंतर नहीं 

rijvi

नई दिल्ली : शिया वक्फ बोर्ड के प्रमुख वसीम रिजवी ने शनिवार को ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के सांसद असदुद्दीन ओवैसी पर तीखा हमला किया। उन्होंने ओवैसी द्वारा गिए गए भाषणों का जिक्र करते हुए कहा, ‘आज के अबू बकर-अल बगदादी और असदुद्दीन ओवैसी के बीच कोई अंतर नहीं है। बगदादी के पास एक सेना, हथियार और गोला-बारूद था जिसके जरिए वह आतंक फैलाता था, ओवैसी अपनी जुबान के माध्यम से आतंक फैलाने का काम करते हैं। वह मुसलमानों को आतंक और रक्तपात के कृत्यों की तरफ भड़का रहे हैं।

ओवैसी और मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड पर प्रतिबंध लगे

शिया वक्फ बोर्ड प्रमुख ने शीर्ष न्यायालय के फैसले पर ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के रूख को लेकर उसे भी फटकार लगाई। रिजवी ने कहा, ‘यह शीर्ष न्यायालय का एक बहुत बड़ा फैसला था। इतना बड़ा फैसला मैंने अपने जीवन में नहीं देखा। इसने सभी पक्षों को संतुष्ट किया लेकिन मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड और असदुद्दीन ओवैसी जैसे कुछ दल हैं जो रूढ़िवादी मानसिकता को हवा दे रहे हैं। रिजवी ने कहा यह सही समय है कि उन पर और मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड पर प्रतिबंध लगना चाहिए।’

ओवैसी पर केस दर्ज

बता दें कि अयोध्या विवाद मामले में शीर्ष न्यायालय के फैसले के बाद असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ कथित रूप से उकसाने के आरोप में एक शिकायत दर्ज की गई थी। शीर्ष न्यायालय के फैसले के बाद ओवैसी ने कहा था कि ‘शीर्ष न्यायालय वास्तव में सर्वोच्च है लेकिन अचूक नहीं है।’ उन्होंने कहा, ‘मैं फैसले से संतुष्ट नहीं हूं। हमें संविधान पर पूरा भरोसा है। हम अपने कानूनी अधिकारों के लिए लड़ रहे थे। हमें खैरात के रूप में पांच एकड़ जमीन की जरूरत नहीं है।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

‘बांग्ला आमार मां’ लिखा मास्क पहनेंगे सरकारी अफसर

कोलकाता : कोरोना का संक्रमण जितनी तेजी से फैल रहा है मास्क का चलन भी उतनी ही तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में सभी आगे पढ़ें »

ऑस्ट्रेलिया हांगकांग के 10 हजार लोगों को देगा स्थाई निवास का मौका

सिडनी : ऑस्ट्रेलिया सरकार ने कहा है कि वह यहां रह रहे हांगकांग के कम से कम 10,000 नागरिकों का वर्तमान वीजा समाप्त होने के आगे पढ़ें »

ऊपर