आज दोपहर ईडी कार्यालय पहुंचेंगे शरद पवार, कई थाना क्षेत्रों में धारा 144 लागू

pawar

मुंबई : राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार शुक्रवार दोपहर को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) कार्यालय में पेश होंगे। उनकी पेशी से पहले बड़ी संख्या में पुलिस कर्मियों को दक्षिणी मुंबई के बल्लार्ड पियरे स्थित प्रवर्तन निदेशालय के कार्यालय की ओर जाने वाली सड़कों पर तैनात किया गया है। इसके अलावा मुंबई के 7 थानाक्षेत्रों में धारा 144 लगा दी गई है।

बैंक भ्रष्टाचार मामले में पवार का नाम शामिल

गौरतलब है कि महाराष्ट्र राज्य सहकारी बैंक में हुए 25,000 करोड़ के घोटाले के मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने शरद पवार एवं उनके भतीजे अजीत पवार सहित करीब 70 नेताओं के विरुद्ध मामला दर्ज किया है। हालांकि, पवार को प्रवर्तन निदेशालय ने अभी तक तलब नहीं किया है।

यह दमन सही नहीं है। निंदनीय : नवाब मलिक

इस मामले पर राकांपा के मुख्य प्रवक्ता नवाब मलिक ने ट्वीट किया है। उन्होंने कहा, ‘‘ सम्मानीय शरद पवार दोपहर दो बजे प्रवर्तन निदेशालय के कार्यालय जाएंगे। कार्यकर्ता बड़ी संख्या में उनके समर्थन में मौजूद रहेंगे। लेकिन पुलिस ने कल रात से कार्यकर्ताओं को हिरासत में लेना शुरू कर दिया है। हम वैसे लोग हैं जो कानून व्यवस्था में विश्वास करते हैं।’’ मलिक ने ट्वीट किया, ‘‘यह दमन सही नहीं है। निंदनीय।’’

कई थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा

बताया जा रहा है कि विरोध की आशंका देखते हुए पुलिस ने सीआरपीसी की धारा 144 के तहत ईडी कार्यालय के बाहर लोगों के जुटने पर प्रतिबंध लगा दिया है। इसके अलावा कोलाब, कुफे परेड, मरीन ड्राइव, डोंगरी, आजाद मैदान, जे जे मार्ग, एमआरए मार्ग पुलिस थाना क्षेत्रों में भी कर्फ्यू लगाई गयी है। हालांकि, पवार ने पार्टी कार्यकर्ताओं से निदेशालय के कार्यालय के बाहर नहीं जमा होने की अपील की है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ruhani

ईरानी राष्ट्रपति रूहानी बोले- अमेरिका ने हम पर प्रतिबंध लगाकर मानवता के खिलाफ अपराध किया

तेहरान : ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने मंगलवार को अमेरिका द्वारा उनके देश पर लगाए गए प्रतिबंध को लेकर कहा कि यह मानवता पर आगे पढ़ें »

पूर्व पीएम और आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन के समय में ‘सबसे बुरे दौर में’ थी अर्थव्यवस्था: वित्तमंत्री

नई दिल्ली : भारत के सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की हालत पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन के समय में 'सबसे बुरे आगे पढ़ें »

ऊपर