राजनाथ सिंह बोले- महबूबा मुफ्ती और अब्दुल्ला की जल्द रिहाई की प्रार्थना करता हूं

rajnath

नई दिल्ली : रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को कहा कि वे जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती के नजरबंदी से जल्द रिहाई की प्रार्थना कर रहे और उम्मीद कर रहे कि वे कश्मीर में हालात को सामान्य करने में योगदान देंगे। बता दें कि पिछले साल यहां अनुच्छेद 370 हटने के बाद से ही पूर्व मुख्यमंत्री दोनो नजरबंद हैं।

‌पिछले साल 5 अगस्त को अनुच्छेद 370 हटा दिया गया था

मालूम हो कि केंद्र की मोदी सरकार द्वारा पिछले साल 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को समाप्त कर उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में विभाजित कर दिया गया। इसी समय एहतियान जम्मू-कश्मीर के तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों नेशनल कॉन्फ्रेंस से फारूक अब्दुल्ला और उनके बेटे उमर और पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती समेत कई नेताओं को नजरबंद कर दिया गया था।

भड़काऊ बयानों का हवाला देते हुए इन्हें नजरबंद रखा है

बता दें कि फारूक अब्दुल्ला को सितंबर में कड़े सार्वजनिक सुरक्षा अधिनियम (पीएसए) के तहत नजरबंद किया गया और इसके कुछ समय बाद उमर और महबूबा को भी इसी के तहत हिरासत में लिया गया था। सरकार ने सुरक्षा की दृष्टि से इन नेताओं के भड़काऊ बयानों का हवाला देते हुए इन्हें नजरबंद रखा है। हालां‌कि, तीनों पूर्व मुख्यमंत्रियों सहित कुछ नेताओं को छोड़कर अधिकांश राजनेताओं को रिहा कर दिया गया है।

सरकार के फैसले का बचाव करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि कश्मीर के हितों में कुछ कदम उठाए गए हैं। उन्होंने कहा, “हर किसी को इसका स्वागत करना चाहिए।” सिंह ने कहा कि फारूक उमर व मुफ्ती की जल्द रिहाई के लिए प्रार्थना करेंगे। केंद्रीय मंत्री ने कहा, “मैं यह भी प्रार्थना करता हूं कि जब वह बाहर आएं तो कश्मीर की स्थिति को सुधारने में अपना योगदान दें।

तीनों पूर्व मुख्यमं‌त्रियों की जल्द रिहाई की प्रार्थना

एजेंसी को दिए एक इंटरव्यू में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, “कश्मीर में शांति का माहौल है और वहां स्थिति में तेजी से सुधार हो रहा है। सरकार के फैसले का बचाव करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि कश्मीर के हितों में कुछ कदम उठाए गए हैं। उन्होंने कहा, “हर किसी को इसका स्वागत करना चाहिए।” सिंह ने कहा कि फारूक उमर व मुफ्ती की जल्द रिहाई के लिए प्रार्थना करेंगे। केंद्रीय मंत्री ने कहा, “मैं यह भी प्रार्थना करता हूं कि जब वह बाहर आएं तो कश्मीर की स्थिति को सुधारने में अपना योगदान दें।”

मोदी सरकार अल्पसंख्यकों के खिलाफ नहीं

राजनाथ ने इस धारणा को खारिज किया कि मोदी सरकार धार्मिक अल्पसंख्यकों के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि, पीएम मोदी की अगुवाई में सरकार ने शुरुआत से ही मुस्लिम नागरिकों के अंदर डर हटाने और उनमें आत्मविश्वास भरने की कोशिश की है। कुछ ताकतें हैं, जो उन्हें गुमराह कर रही हैं। लेकिन भाजपा किसी भी स्थिति में भारत के अल्पसंख्यकों के खिलाफ नहीं जा सकती। मोदी ने शुरुआत से ही ‘सबका साथ, सबका विकास’ का नारा दिया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

मशहूर पेंटर वसीम कपूर पहुंचे मंत्री फिरहाद हकीम के घर

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः जाने-माने चित्रकार वसीम कपूर का सोमवार को दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह 71 वर्ष के थे। उनका जन्म 3 आगे पढ़ें »

राजस्थान में पुनर्जन्म! 4 साल की बच्ची किंजल का दावा, ‘मैं थी ऊषा….

बड़ी खबरः बेलूड़ में बीच गंगा में व्यक्ति ने लगायी छलांग

वॉट्सऐप और टेलीग्राम पर गलती से भी न भेजें ये मैसेज, सरकार ने जारी की नई गाइडलाइंस

सेक्स के दौरान लड़कियों को यहां मार खाने से आता है बहुत मजा

चेंजिंग रूम में हिडेन कैमरा लगाकर इस एक्ट्रेस ने साथी एक्ट्रेस का बनाया न्यूड वीडियो

बड़ी खबरः शिक्षा मंत्री ब्रात्य बसु बोले,… तो इस दिन से बंगाल में स्कूल…

ब्रेकिंगः अभिनेता बोनी सेनगुप्ता ने छोड़ी बीजेपी

हैरान कर देगा 1 मिनट का ये वीडियो: जरा सी चूक में जहां जिंदगी मौत में…

सेंसेक्स धड़ाम! 1500 अंक से ज्यादा टूटा, निफ्टी 17200 से नीचे हुआ बंद

ऊपर