पीएम मोदी ने अनुच्छेद 370 पर विपक्ष को दी खुलेआम चुनौती

modim

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को महाराष्ट्र के जलगांव से विधानसभा चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत करते हुए कश्मीर मामले में विपक्ष को खुलेआम चुनौती दिया। रैली में उन्होंने कहा कि कश्मीर हमारा मस्तक है। अनुच्छेद 370 पर फैसला अटल है जो कुछ नेताओं को मान्य नहीं है। साथ ही मोदी ने कहा कि मैं उन्हें चुनौती देता हूं कि दम है तो अपने घोषणापत्र में लिखें कि वे 370 को वापस लाएंगे। इस प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री की राज्य में 4 दिन में 9 रैलियां होनी है।

घड़ियाली आंसू बहाने में जुटे विपक्षी

मोदी ने विपक्षी पाटिर्यों को घेरते हुए कहा कि ”मैं विरोधी पाटिर्यों को चुनौती देता हूं कि उन में दम है तो इस चुनाव में और आने वाले चुनावों में वे लोग घोषणापत्र में ये ऐलान करें कि अनुच्छेद 370 को वापस लाएंगे। साथ ही ये दावा करें कि 5 अगस्त के निर्णय को पलट देंगे। साथ ही मोदी ने यह भी कहा कि किसी में यह दम नहीं है। हिंदुस्तान किसी को ऐसा करने नहीं देगा। ऐसा करने पर उनका राजनीतिक भविष्य तक नहीं बचेगा। मोदी ने यह भी कहा कि विपक्षियों की चाल नहीं चलने वाली है। वह केवल घड़ियाली आंसू बहाने में जुटे हैं। प्रधानमंत्री ने बताया कि कश्मीर में हालात सामान्य होने में 4 महीने भी नहीं लगेंगे।

मुंबई में 18 अक्टूूबर को मोदी की अंतिम रैली

सूत्रों के अनुसार मोदी बुधवार एवं गुरुवार को 3 रैलियां करेंगे। इस दौरान वे अकोला, ऐरोली (नवी मुंबई), पुणे, पर्टूर, परली और सतारा भी जाएंगे। अंत में वे 18 अक्टूबर को मुंबई में चुनावी जनसभा के साथ महाराष्ट्र में चुनावी अभियान का समापन करेंगे। मालूम हो कि महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को वोट डाले जाएंगे। ऐसे में सभी पार्टियां प्रचार के अंतिम समय में पूरा जोर लगा रहीं हैं। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पहले ही राज्य में प्रचार की कमान को कस कर थाम रखा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वेस्टइंडीज जीत के करीब, इंग्लैंड ने दूसरी पारी में 313 रन बनाए

साउथैम्पटन : इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में वेस्टइंडीज जीत की ओर है। मैच के पांचवें दिन टी ब्रेक तक मेहमान टीम ने 4 विकेट के आगे पढ़ें »

पगबाधा का फैसला सिर्फ और सिर्फ डीआरएस से हो : तेंदुलकर

नयी दिल्ली : महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अंपायरों के फैसलों की समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को ‘अंपायर्स कॉल’ को हटाने आगे पढ़ें »

ऊपर