एनसीसी कार्यक्रम में बोले पीएम मोदी- पाकिस्तान को हराने में 10 दिन भी नहीं लगेंगे

modi

नई दिल्ली : राजधानी नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को एनसीसी कैटेड्स को संबोधित किया। इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी के साथ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी उपस्थित थे। मोदी ने कैडेट्स को संबोधित करते हुए कहा कि एनसीसी, देश की युवाशक्ति में संस्कार, दृढ़ निश्चय और देश के देशभक्ति की भावना को मजबूत करने का बहुत सशक्त मंच है। ये भावनाएं देश के विकास के साथ सीधा तौर से जुड़ी हैं। उन्होंने देश के युवाओं का जिक्र करते हुए कहा आज विश्व में हमारे देश की पहचान, युवा देश के रूप में है। देश के 65 प्रतिशत से अधिक लोग 35 वर्ष से कम उम्र के हैं। देश युवा है, इसका हमें गर्व है लेकिन देश की सोच युवा हो, यह हमारा दायित्व होना चाहिए। एनसीसी कैडेट्स को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे पड़ोसी देश हमसे तीन-तीन युद्ध हार चुके हैं। हमारी सेना को 10-12 दिन से ज्यादा वक्त नहीं लगेंगे उन्हें हराने करने में।

अब टाला नहीं टकराया जाएगा

इस दौरान मोदी ने कहा कि काम को टालने वाले लोगों के लिए कल कभी नहीं आता। ऐसी सोच वाले लोग हर जगह मिलेंगे। उन्होंने कहा कि कब तक हम पुरानी कमजोरियों को पकड़कर बैठे रहेंगे। आज का युवा देश बदलना चाहता है। स्थितियां बदलना चाहते हैं। इसलिए युवाओं हमने तय किया है कि अब टाला नहीं जाएगा, अब टकराया जाएगा, निपटा जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि कश्मीर भारत की मुकुटमणि है। 70 साल के लंबे समय के बाद वहां से आर्टिकल 370 को हटाया गया। हम जानते हैं कि हमारा पड़ोसी देश हमसे तीन-तीन युद्ध हार चुका है। हमारी सेनाओं को उसे धूल चटाने में हफ्ते-दस दिन से ज्यादा समय नहीं लगता।

हमने पाकिस्तान में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक की

मोदी ने इस दौरान कहा कि थके हुए लोग युवा सोच नहीं रख सकते हैं। उन्होंने कहा कि युवा पढ़ेंगे भी और देश के लिए कुछ करेंगे भी। साथ ही उन्होंने कहा कि कुछ लोग समस्या में सुधार नहीं होने देना चाहते। प्रधानमंत्री ने पिछले साल फरवरी में की गई स्ट्राइक का जिक्र करते हुए कहा हमने पाकिस्तान में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक भी की। नॉर्थ ईस्ट के विकास के लिए भी कदम उठाए।

तीनों सेनाओं के बीच समन्वय बढ़ाने के लिए सीडीएस नियुक्त किया गया

पीएम ने कहा कि सीडीएस नियुक्ति केवल तीनों सेनाओं के बीच समन्वय बढ़ाने के लिए लंबे समय से चर्चा की जा रही थी, लेकिन हमने सीडीएस के पद का गठन किया और देश का पहला सीडीएस नियुक्त किया। बता दें कि 1948 में एनसीसी की स्थापना हुई थी

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

माता पिता के साथ हुए नस्ली भेदभाव की बात करते रो पड़े होल्डिंग

साउथम्पटन : वेस्टइंडीज के अपने जमाने के दिग्गज गेंदबाज माइकल होल्डिंग नस्लवाद पर दमदार भाषण देने के एक दिन बाद सीधे प्रसारण के दौरान अपने आगे पढ़ें »

शाहरुख ने मुझे गंभीर जैसी आजादी नहीं दी : गांगुली

नयी दिल्‍ली : मौजूदा बीसीसीआई अध्यक्ष और टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के को-ओनर शाहरुख खान को लेकर आगे पढ़ें »

ऊपर