पाक ने जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को रिहा किया, भारतीय सेना अलर्ट

Masood Azhar

नई दिल्ली : पाकिस्तान एक बार फिर से भारत में नापाक हरकतों को अंजाम देने की फिराक में है। इसके लिए उसने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को रिहा कर दिया है। इस बात की जानकारी इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) के दो अधिकारियों ने दी। साथ ही उन्होंने बताया कि पाक जम्मू और राजस्थान बॉर्डर के जरिए घुसपैठ तथा आतंकी हमले की फिराक में है, जिसके लिए उसने अपने अतिरिक्त सैनिकों को भी तैनात किया हैं। इंटेलिजेंस की रिपोर्ट के अनुसार मसूद की रिहाई ऐसे वक्त हुई है, जब भारत और पाक के बीच कश्मीर को लेकर तनाव जारी है। मालूम हो कि मसूद भारत में कई बड़े आतंकी हमलों का मास्टरमाइंड रह चुका है।

अनुच्छेद 370 हटाने के बाद घुसपैठ की कोशिश

इनपुट के मुताबिक, भारत सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद पाकिस्तान और आतंकी संगठन लगातार भारतीय सीमा में घुसपैठ करने की कोशिश कर रहे हैं, जिससे की वह अपने मंसूबो को अंजाम दे सके। आईबी के अधिकारियों ने बताया कि पाक द्वारा भारत के खिलाफ रचे जा रहे साजिश को जम्मू और राजस्थान सेक्टरों में संबंधित सीमा सुरक्षा बलों और सेना को अवगत करा दिया गया है। साथ ही उन्होंने सेनाओं को पाक आर्मी और आतंकियों के गतिविधि से अलर्ट रहने को कहा है।

इमरान ने भारत को दी थी धमकी

मालूम हो कि पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान ने शुक्रवार को जम्मू और कश्मीर में उठाए गए कदमों के लिए भारत को धमकी दी। इमरान ने कहा कि वैश्विक समुदाय किसी भी विनाशकारी के लिए जिम्मेदार होगा। नई दिल्ली और इस्लामाबाद के बीच तनाव की स्थिति इन्हीं के बयानबाजी के वजह से बनी है। मालूम हो कि भारत सरकार ने अनुच्छेद 370 को निरस्त कर दिया और जम्मू-कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित कर दिया। वहीं पाक सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा ने कहा था कि कश्मीर हमारी दुखती रग है, इसके लिए हम आखिरी गोली तक लड़ेंगे।

मसूद को आतंकी घोषित किया गया था

बता दें कि संयुक्त राष्ट्र ने जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित किया था, जो भारत के लिए बड़ी कूटनीतिक जीत थी। हाल ही में भारत ने गैरकानूनी गतिविधियाँ रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) 2019 के तहत मसूद को आतंकी घोषित किया था। यूएपीए में संशोधन के बाद अजहर समेत कई अन्य आतंकियों और अपराधियों को नए अधिनियम के तहत आतंकी घोषित किया गया है। आपको बता दें कि इस अधिनियम में संशोधन से पहले सिर्फ संगठनों को ही आतंकवादी संगठन घोषित किया जा सकता था। लेकिन अब ऐसा नहीं है, आतंकी गतिविधियों में शामिल किसी शख्स को भी आतंकी घोषित किया जा सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बेकाबू होता जा रहा है डेंगू, और 2 की मौत

अब तक 19 मरे, साढ़े 11 हजार लोग पीड़ित सन्मार्ग संवादाता कोलकाता : डेंगू का कहर दिन ब दिन बेकाबू होता जा रहा है। रविवार को डेंगू आगे पढ़ें »

mamata banerjee

आज केन्द्र सरकार के प्रतिष्ठानों के कर्मियों को सम्बोधित करेंगी ममता

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आज सोमवार को नेताजी इंडोर स्टेडियम में केंद्र सरकार के प्रतिष्ठानों के कर्मचारियों के प्रतिनिधियों को सम्बोधित करेंगी। इन आगे पढ़ें »

ऊपर