आतंकवाद का उद्योग कर रहा पाकिस्तान, भारत के‌ लिए जवाब देना जरूरी : विदेश मंत्री

S Jaishankar

नई दिल्ली : भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने गुरुवार को दिल्ली में रामनाथ गोयनका मेमोरियल व्याख्यान को संबोधित करते हुए पाकिस्तान के खिलाफ बयान दिया है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान आतंकवाद का व्यापार करता है। उनके अनुसार पाकिस्तान हमारे देश पर दवाब बनाने के लिए अपनी जमीन पर आतंकवाद को प्रोत्साहन दे रहा है, उसने आतंकवाद को उद्योग बना लिया है। अब भारत के लिए यह जरूरी हो गया है कि ‌उन्हें मुंहतोड़ जवाब दिया जाए।

‌शिमला समझौते के बाद समस्याएं बढ़ी हैं

विदेश मंत्री ने बताया कि 1972 में किए गए शिमला समझौते के बाद से सिर्फ पाकिस्तान में विद्रोह और जम्मू-कश्मीर में समस्याएं ही बढ़ी हैं। उन्होंने कहा, ‘‘सभी विवादों को लेकर पाकिस्तान के साथ हमारी चर्चा तभी संभव है जब सीमा पार आतंकवाद पर रोक लगाए। एक समय था जब विश्व मंच पर भारत की स्थिति आज के मुकाबले काफी बेहतर थी, लेकिन चीन के साथ 1962 की जंग ने इस स्‍थिति को काफी नुकसान पहुंचाया। इसके बाद पाकिस्तान से भी 1965 का युद्ध हुआ। यह भारत के लिए बहुत बुरा दौर रहा।’’

कई मुद्दों पर हुई चर्चा

दिल्ली में रामनाथ गोयनका मेमोरियल व्याख्यान के लिए मौजूद विदेश मंत्री से कई मुद्दों पर सवाल किए गए। इस कार्यक्रम में शामिल लोगों के साथ उन्होंने चीन, क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक साझेदारी (आरसीईपी), अनुच्छेद 370 और नेशनल रजिस्टर सिटिजन्स (एनआरसी) पर भी चर्चा की। जब उनसे भारत के आरसीईपी से न जुड़ने पर सवाल किया तो जवाब में उन्होंने कहा कि कोई बुरा समझौता करने से बेहतर है कि कोई समझौता ही न किया जाए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वनडे क्रिकेट में किसी भी स्थान पर बल्लेबाजी को तैयार : रहाणे

नयी दिल्ली : भारतीय बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे ने कहा कि उनकी अंतररात्मा की आवाज है कि वह एकदिवसीय प्रारूप में राष्ट्रीय टीम में वापसी करेंगे। आगे पढ़ें »

जरूरतमंद पूर्व खिलाड़ियों की मदद करती रहेगी सरकार : रीजिजू

नयी दिल्ली : खेलमंत्री किरेन रीजिजू ने शनिवार को कहा कि मंत्रालय जरूरतमंद पूर्व खिलाड़ियों की आर्थिक मदद करता रहेगा क्योंकि देश के लिये खेलते आगे पढ़ें »

ऊपर