महाराष्ट्र की सत्ता में अहम भूमिका निभा सकते है नितिन गडकरी

Nitin Gadkari

मुंबई : महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के बाद भी भाजपा और शिवसेना के बीच की राजनीतिक तकरार जारी है। सरकार बनने में केवल दो दिन बाकी है लेकिन अभी तक गतिरोध बनी हुई है। अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि महाराष्ट्र में किस पार्टी की सरकार का गठन होगा। शिवसेना लगातार भाजपा को संकेत दे रही है कि वह दूसरे विकल्पों पर सोच-विचार कर सकती है लेकिन वह कोई कदम नहीं उठा पा रही है। हालांकि भाजपा ने भी सरकार गठन के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया है। इस राजनीतिक उथलपुथल के बीच केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी भी शामिल हो गए है। वह गुुरुवार को नागपुर में आरएसएस के प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात करेंगे। हालांकि आरएसएस भी भाजपा पर शिवसेना को मनाने का दबाव बना रहा है। देवेंद्र फडणवीस के संचालन में पार्टी इस वक्त खंडित होती नजर आ रही है और इस बीच गडकरी के आने से फडणवीस की कुर्सी को खतरा हो सकता है।

गडकरी ने कहा- फडणवीस के नेतृत्व में ही बनेगी सरकार

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी इस सियासी दावपेंच को सुलझाने के लिए अपने सारे कार्यक्रमों को रद्द करके नागपुर पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर जल्द ही निर्णय लिया जाएगा। जनता ने भाजपा को चुना है तो सरकार उनके नेतृत्व में ही बनेगी। इसके अलावा उन्होंने कहा कि हम शिवसेना से भी संपर्क में है और जल्द ही इसका हल निकल जाएगा। राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (आरएसएस) और मोहन भागवत का इससे कुछ लेना-देना नहीं है। महाराष्ट्र सरकार के नेतृत्व पर उठे सवालों पर गडकरी ने कहा कि मैं दिल्ली में ही हूं और मुझे महाराष्ट्र आने की आवश्यकता नहीं हैं।

आरएसएस ने गडकरी को मुख्यमंत्री बनाने के लिए तैयार किया रोडमैप

भाजपा और शिवसेना की राजनीतिक लड़ाई के बीच गडकरी के आने से कई तरह की खबरें सामने आ रही हैं। ऐसा अनुुमान लगाया जा रहा है कि महाराष्ट्र में फडणवीस की कुर्सी की जगह गडकरी ले सकते हैं। हालांकि फडणवीस और गडकरी के बीच मैत्रीपूर्ण संबंध होने के बाद भी मन-मुटाव जाहिर है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक आरएसएस ने गडकरी को नया मुख्यमंत्री के रूप में स्‍थापित करने के लिए रोडमैप तैयार किया है।

गौरतलब है कि गुरुवार को सीएम का एक प्रतिनिधि दल महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिलेंगे। मुख्यमंत्री के पद के लिए नितिन गडकरी का नाम भी लिया जा रहा है और ऐसी संभावना जताई जा रही है कि गडकरी ही शिवसेना के साथ इस राजनीतिक गतिरोध को समाप्त कर सकते है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

विमान की सीट के नीचे मिला डेढ़ किलो सोना

कोलकाता : बैंकाक से कोलकाता आये स्पाइस जेट के विमान से कस्टम्स की एआईयू टीम ने डेढ़ किलो सोना जब्त किया है। सूत्रों के मुताबिक आगे पढ़ें »

भारत के प्रति कृतज्ञ है बंगलादेश – हसीना

कोलकाता : बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और बंगलादेश की पीएम शेख हसीना के बीच शुक्रवार को एक 5 सितारा होटल में बैठक हुई। इस आगे पढ़ें »

ऊपर