हिमाचल में वैश्विक निवेशक सम्मेलन को मोदी ने किया संबोधित, कहा-‌‌स्थितियों में हो रहा है बदलाव

PM Narendra Modi himanchal

धर्मशाला : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरूवार को हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में आयोजित दो दिवसीय वैश्विक निवेशक सम्मेलन 2019 को संबोधित किया। अपने संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि धर्मशाला में वैश्विक निवेशक सम्मेलन, यह सुनते ही थोड़ा अटपटा लगता है लेकिन यह कल्पना नहीं, सच्चाई है, अभूतपूर्व है, अद्भुत है। इसके लिए आप सभी बधाई के पात्र हैं। हिमाचल प्रदेश की ओर से देश और दुनिया को यह बताया जा चुका है कि हम भी अब कमर कस चुके हैं।

मोदी ने किया दो दिवसीय सम्मेलन का शुभारंभ

आज हिमाचल के धर्मशाला में दुनियाभर के निवेशक राइजिंग हिमाचल ग्लोबल इन्वेस्टर मीट के लिए एकजुट हुए हैं। यह दो दिवसीय सम्मेलन है जिसका शुभारंभ भारत के प्रधानमंत्री ने किया। इसमें कई देशों के राजदूत, देश सहित विदेशों के निवेशक व डेलीगेटस शामिल हुए हैं। पीएम मोदी ने कहा कि पहले इस प्रकार के वैश्विक निवेशक सम्मेलन देश के कुछ ही राज्यों में हुआ करते थे। यहां अनेक ऐसे साथी मौजूद हैं जिन्होंने पहले की स्थितियां देखी हैं। लेकिन अब स्थितियां में बदलाव हो रहा है और इसकी एक गवाह यहां हिमाचल में हो रही ये समिट भी है।

अर्थव्यवस्‍था के आधार को कमजोर नहीं पड़ने दिया

इस वैश्विक निवेशक सम्मेलन में पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी ने बेवजह के नियम कायदों को हटाने की बात करते हुए कहा कि सरकार का बहुत ज्यादा दखल दिए जाने से कहीं न कहीं उद्योगों के बढ़ने की रफ्तार में रुकावट आती है। हिमाचल प्रदेश सरकार भी इसी सोच के साथ काम कर रही है और मुझे इस बात से खुशी है। आज भारत में विकास की गाड़ी नई सोच, नई अप्रोच के साथ चार पहियों पर चल रही है। एक पहिया समाज का, जो आकांक्षी है। एक पहिया सरकार का, जो नए भारत के लिए उत्साहजनक है। एक पहिया इंडस्ट्री का, जो साहसी है और एक पहिया ज्ञान का, जो साझा करने योग्य है। उन्होंने कहा कि वर्तमान वैश्विक परिदृश्य में, भारत अगर आज मजबूती से खड़ा है, तो इसलिए, क्योंकि हमने अपनी अर्थव्यवस्था के आधार को कमजोर नहीं पड़ने दिया है। हमने व्यापक अर्थव्यवस्‍था में अपनी प्रतिबद्धता निरंतर बनाए रखी है और राजकोषीय अनुशासन का सख्ती से पालन किया है।

सम्मेलन में कई दिग्गज हस्तियां हुई शामिल

गौरतलब है कि इस सम्मेलन में प्रधानमंत्री मोदी के अलावा कई दिग्गज हस्‍तियों ने हिस्सा लिया है जिनमें केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद एस पटेल, वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर, सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह थमांग, बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे, नीति आयोग के वाइस चेयरमैन राजीव कुमार शामिल हैं। साथ ही प्रॉक्टर एंड गैंबल के प्रबंध निदेशक मधुसूदन गोपालन, हीरा कॉरपोरेट सर्विस के सुनील कांत मुंजाल, अडाणी इंटरप्राइजेज के प्रणव अडाणी समेत कई उद्योगपति भी शामिल हुए हैं।

82 हजार करोड़ के निवेश प्रस्ताव पर मुहर की चर्चा

इस वैश्विक सम्मेलन में चार बड़े क्षेत्रों सहित सभी क्षेत्रों में करीब 82 हजार करोड़ के निवेश प्रस्ताव पर मुहर लगाई जाएगी। इसमें ऊर्जा के 15 एमओयू से 27,812 करोड़, पर्यटन के 192 एमओयू से 14,955 करोड़, उद्योग के 207 एमओयू से 13,682 करोड़ और हाउसिंग के 32 एमओयू से 12,277 करोड़ निवेश होने की संभावना है। हिमाचल सरकार को उम्मीद है कि इस निवेश से प्रदेश के पौने दो लाख लोगों को रोजगार मिलेगा।

सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त

प्रदेश में पहली बार हो रहे इतने बड़े आयोजन के दौरान ट्रैफिक मैनेज करना भी पुलिस के लिए चुनौती होगा। सुरक्षा के लिए पुलिस जवान चप्पे-चप्पे पर तैनात कर दिए गए हैं। सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए है जिसके लिए शहर में 2400 पुलिस जवान तैनात किए गए हैं। शहर को 18 सेक्टरों में बांटा गया है। वहीं शहर सहित आसपास के क्षेत्रों में 6 नाके लगाए गए हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

गुरु नानक के नाम पर भवन बनायेगी राज्य सरकार

कोलकाता : सोमवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने घोषणा की कि सिख गुरुओं के पहले गुरु और सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक की 550वीं आगे पढ़ें »

तेज रफ्तार से आ रही स्कूल बस लैंप पोस्ट से टकरायी, 20 घायल

कोलकाता : ड्राइवर द्वारा नियंत्रण खोने से तेज रफ्तार स्कूल बस लैंप पोस्ट से जा टकरायी। घटना चितपुर थानांतर्गत पी.के मुखर्जी रोड व काशीपुर रोड आगे पढ़ें »

ऊपर