तेजस्वी यादव पर आर्थिक जालसाजी का मंत्री नीरज कुमार ने लगाया आरोप

पटना : जनता दल (यूनाइटेड) के नेता और बिहार के सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री नीरज कुमार ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता तेजस्वी प्रसाद यादव पर आर्थिक जालसाजी कर गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल) रहने वालों की सूची में शामिल एक व्यक्ति के नाम से करीब एक करोड़ रुपये का हाईटेक बस खरीदने का आरोप लगाते हुए शनिवार को चुनौती दी कि यदि उनके आरोप गलत हैं तो वे उनके खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर करें।
नीरज कुमार ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि तेजस्वी यादव की यात्रा के लिए बस जिस मंगल पाल के नाम पर खरीदी गयी है, उसका नाम बीपीएल सूची में है और उसने अंगूठा लगाकर राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन के तहत अनाज भी लिया है। उन्होंने कहा कि राजद के लोगों का दावा गलत है कि मंगल पाल ठेकेदार है। सच्चाई यह है कि मंगल पाल साक्षर भी नहीं है और उसको आर्थिक जालसाजी का शिकार बनाया गया है। जदयू नेता ने कहा कि राजद के लोगों ने आर्थिक जालसाजी को छिपाने के लिए उसका एक साल में पांच लाख रुपये का टर्नओवर दिखाया है। उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव बताएं कि मंगल पाल का 2018-19 में भरा गया आयकर रिटर्न कितने का था। नीरज कुमार ने कहा कि तेजस्वी यादव की यात्रा के लिए 33 लाख रुपये से अधिक कीमत की बस खरीदी गयी। हाइटेक रथ का रूप देने में बस की कीमत एक करोड़ रुपये तक पहुंच गयी। उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव को बताना होगा कि यह पैसा किसका है? तेजस्वी और उनकी पार्टी को चुनौती है कि वे इन आरोपों को गलत साबित करें और उनपर मानहानि का मुकदमा करें, नहीं तो गुनाह कबूल करें कि उन लोगों ने एक अति पिछड़ा के साथ जालसाजी की है। जदयू नेता ने कहा कि तेजस्वी यादव और राजद के नेताओं को वह आगाह कर देना चाहते हैं कि उन पर भारतीय दंड विधान (आईपीसी) की धारा 420, 467 और 468 के तहत मुकदमा दर्ज हो सकता है। बिहार और देश की जनता जान गयी है कि उन लोगों ने आर्थिक जालसाजी की है। कोई भी व्यक्ति उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करा सकता है।
सूचना मंत्री ने कहा कि तेजस्वी बताएं कि बस खरीद मामले का मास्टरमाइंड कौन है? उन्होंने कहा कि तेजस्वी इस बस की सवारी करने वाले हैं इसलिए उनका सीधा आरोप है कि बस की खरीददारी से लेकर पूरे मामले में उनकी ही भूमिका है और वही इसके मास्टरमाइंड हैं। गौरतलब है कि तेजस्वी यादव 23 फरवरी से युवा क्रांति रथ (हाईटेक बस) पर सवार होकर ‘बेरोजगारी हटाओ यात्रा’ शुरू करने वाले हैं। बस के मालिक मंगल पाल ने स्वीकार किया है कि पूर्व में उसका नाम बीपीएल में था लेकिन अभी वह पूर्व विधायक अनिरुद्ध यादव के साथ बिजनेस पार्टनर के रूप में काम करता है। बस अनिरुद्ध यादव ने उसके नाम से खरीदी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पैट कमिंस को अभी भी आईपीएल की उम्मीद, रैना बोले- लोगों का जीवन ज्यादा जरूरी

नयी दिल्‍ली : कोरोनावायरस के लगातार बढ़ते प्रकोप के कारण जुलाई तक होने वाले दुनियाभर के सभी खेल प्रतियोगिताएं या तो टाल दी गयी है आगे पढ़ें »

देशभर में आवश्यक सामानों की आपूर्ति श्रृंखला को कायम रखेगा ब्लू-डार्ट

नई दिल्ली :  कोविड-19 महामारी के बाद हुए लॉकडाउन  में  ब्लू-डार्ट ने अपनी व्यावसायिक आकस्मिकता एवं निरंतरता योजना (बीसीसीपी) को अमल में लाना शुरू कर आगे पढ़ें »

ऊपर