ममता ने ईजेडसी बैठक में दिल्ली दंगों का मामला उठाया, सीएए-एनआरसी पर चर्चा नहीं

ezdc

भुवनेश्वर : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भुवनेश्वर में शुक्रवार को कहा कि पूर्वी क्षेत्रीय परिषद (ईजेडसी) की बैठक में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) या एनआरसी पर चर्चा नहीं हुई, लेकिन उन्होंने दिल्ली हिंसा का मुद्दा उठाया। ममता ने दिल्ली में सांप्रदायिक हिंसा के दौरान मारे गए लोगों पर चिंता जताते हुए कहा कि ऐसे कदम उठाए जाने चाहिए जिससे स्थिति अब और न बिगड़े। साथ ही उन्होंने कहा कि दिल्ली में अब शांति अवश्य ही बहाल होनी चाहिए। बता दें कि इस हिंसा में अब तक 43 लोगों के मारे जानी की खबर है।

बैठक के एजेंडे में नहीं था सीएए या एनआरसी

ओड़िशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक द्वारा दिए गए दोपहर के भोज के बाद संवाददाताओं से बात करते हुए तृणमूल प्रमुख ने कहा कि बैठक में सीएए या एनआरसी पर कोई चर्चा नहीं हुई क्योंकि यह एजेंडे में नहीं था। उन्होंने कहा, ‘न उन्होंने मुद्दा उठाया न मैंने। यह एजेंडे में भी नहीं था। यह बैठक उसके लिए नहीं था।’

पहले समस्या का समाधान फिर राजनीति पर चर्चा

पटनाइक द्वारा अपने आधिकारिक आवास पर दिए गए भोज में उनके साथ केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी थे। यह पूछे जाने पर कि क्या दिल्ली दंगों के मद्देनजर मांगे जा रहे शाह के इस्तीफे का वह समर्थन करेंगी। इस पर ममता ने कहा, ‘पहले समस्या का समाधान होना चाहिए और उसके बाद हम राजनीति पर चर्चा करेंगे।’ बैठक में ममता ने केंद्र द्वारा कथित तौर पर उनके राज्य की अनदेखी किए जाने का मुद्दा भी उठाया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

लोगों को मेरे खेल के खत्म होने के बारे में लिखने की आदत है, मुझे फर्क नहीं : सुशील

नयी दिल्ली : दिग्गज पहलवान सुशील कुमार उम्र के ऐसे पड़ाव पर है जहां ज्यादातर खिलाड़ी संन्यास की घोषणा कर देते है लेकिन ओलंपिक में आगे पढ़ें »

कोरोना से हुए नुकसान को कम करने के लिए सरकार जल्द नए राहत पैकेजों की घोषणा करेगी

नई दिल्ली : कोरोना के कारण हुए लॉक डाउन के कारण देश की अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान हुआ है। वित्त मंत्रालय लगातार राहत पैकेज पर आगे पढ़ें »

ऊपर