सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस मिश्रा बोले- इस घोर कलयुग में कोरोनावायरस से लड़ना बड़ी चुनौती

mishra

नई दिल्ली : कोविड-19 के कहर ने शीर्ष न्यायालय चिंता बढ़ा दी है। शीर्ष न्यायालय के न्यायाधीश अरुण मिश्रा ने बुधवार को कहा कि हर 100 साल में ऐसी महामारी फैलती है। इस घोर कलयुग में हम इस वायरस से नहीं लड़ सकते हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के इन वायरस के आगे मानवीय प्रयास बौने साबित हो जाते हैं। हमें अपने स्तर पर उनसे लड़ने की जरूरत है। हम सरकार के स्तर पर इसका मुकाबला नहीं कर सकते हैं।

एक वरिष्ठ वकील अपने साथ एक ही वकील लाए

न्यायाधीश मिश्रा ने न्यायालय में एक सुनवाई के दौरान वकीलों की भीड़ को लेकर टिप्पणी करते हुए कहा कि ‘इंसान की कमजोरी देखिए, आप हथियार बना सकते हैं, लेकिन ऐसे वायरस से नहीं लड़ सकते।’ इसी दौरान न्यायाधीश एमआर शाह ने वरिष्ठ वकील आर्यमान सुंदरम से कहा कि ‘आप 5-6 वकीलों के साथ ही आते हैं। हम आप से भी अपील करते हैं कि एक वरिष्ठ वकील अपने साथ सिर्फ एक वकील ही लाए। यह हमारी ही भलाई के लिए है।’

शीर्ष न्यायालय में कल से 4 बेंच ही बैठेंगी

शीर्ष न्यायालय ने कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए कहा कि कल से यानी 19 मार्च से न्यायालय में आधे कर्मचारी ही ड्यूटी पर आएंगे। शीर्ष न्यायालय में कल से केवल चार बेंच ही बैठेंगी। बीते दो दिनों में देश में कोरोनावायरस के 50 से ज्यादा मरीज बढ़े हैं।

न्यायालय ने जेल अधिकारियों से भी मांगी वैकल्पिक योजना

शीर्ष न्यायालय ने जेल में बंद कैदियों में कोरोनावायरस का संक्रमण फैलने को लेकर भी चिंता जताई है। प्रधान न्यायाधीश एसए बोबडे ने सोमवार को जेल अधिकारियों से सवाल किया था कि वे इस विषम परिस्थिति से कैसे निपटेंगे? साथ ही उन्होंने जेल के अधिकारियों को इस वायरस पर रोक लगाने की वैकल्पिक योजना देने के लिए कहा गया है। बता दें कि देश की 1,339 जेलों में करीब 4 लाख 66 हजार 84 कैदी हैं। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़ों के अनुसार, देश की जेलों में कैदियों की औसत संख्या 117.6 प्रतिशत है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

25 करोड़ की हेरोइन के साथ तस्कर गिरफ्तार

अभियुक्तों के पास से 5 किलो हेरोइन और कार जब्त कोलकाता : 25 करोड़ रुपये की हेरोइन के साथ कोलकाता पुलिस के एसटीएफ अधिकारियों ने एक आगे पढ़ें »

tmc

पहले यूपी की कानून व्यवस्था देखें, फिर बंगाल पर उंगली उठाएं – तृणमूल

हाथरस की घटना पर योगी को तृणमूल ने घेरा कोलकाता : बंगाल में चुनावी माहौल गरम है। भाजपा लगातार आक्रामक हो रही है, वहीं तृणमूल भी आगे पढ़ें »

ऊपर