आईएनएक्स मीडिया केस : पी चिदंबरम की जमानत याचिका खारिज, कोर्ट ने कहा गंभीर आरोप हैं

नई दिल्ली : आईएनएक्स मीडिया के मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पी चिदंबरम को झटका लगा है। ‌दिल्‍ली उच्च न्यायालय ने पूर्व वित्त मंत्री की जमानत याचिका खारिज कर दी है। न्यायालय ने कहा कि चिदबंरम के खिलाफ लगे आरोप प्रथम दृष्टया गंभीर प्रकृति के हैं, इसमें कोई शक नहीं है कि जमानत लेना उनका अधिकार है, लेकिन ऐसे मामले में अगर जमानत दी जाती है तो यह बड़े पैमाने पर लोगों के हितों के खिलाफ होगा क्योंकि उन पर गंभीर आरोप हैं।

घोटाले में सक्रिय और मुख्य भूमिका निभाने का आरोप

बता दें कि, चिदंबरम पर आईएनएक्स मीडिया घोटाले में सक्रिय और मुख्य भूमिका निभाने का आरोप है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और केंद्रीय अन्वेषण ब्‍यूरो (सीबीआई) अलग-अलग मामलों में उनके खिलाफ जांच कर रही है। शीर्ष न्यायालय ने 22 अक्टूबर को उन्हें सीबीआई वाले मामले में जमानत दे दी थी। मगर ईडी केस में जमानत मिलने के बाद ही वे जेल से बाहर आ सकेंगे। इससे पहले सीबीआई ने चिदंबरम को 21 अगस्त को गिरफ्तार किया था। फिलहाल वह तिहाड़ जेल में बंद हैं।

ईडी ने चिदंबरम की जमानत का किया था विरोध

मालूम हो कि न्यायालय ने हाल ही में चिदंबरम की न्यायिक हिरासत 27 नवम्बर तक बढ़ा दी थी। इस पर चिदंबरम के वकील ने न्यायालय से कहा था कि उन पर देश छोड़कर जाने, गवाहों को प्रभावित करने और साक्ष्यों से छेड़छाड़ करने जैसे कोई आरोप नहीं हैं। ऐसे में उन्हें नियमित जमानत दी जानी चाहिए। इसपर ईडी ने चिदंबरम की जमानत याचिका का विरोध किया था। ईडी ने न्यायालय से कहा था कि अगर चिदंबरम को जमानत मिली ‌तो वे साक्ष्यों को प्रभावित कर सकते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मालदह में युवती से ‘गैंग रेप’, फिर जिंदा जलाया

हैदराबाद जैसी घटना से बंगाल स्तब्ध शव की हालत इतनी खराब कि उसकी शिनाख्त नहीं हो पायी सन्मार्ग संवाददाता मालदहः हैदराबाद सामूहिक दुष्कर्म और हत्याकांड जैसी घटना गुरुवार आगे पढ़ें »

बिग बॉस 13 से बाहर होंगे सिद्धार्थ शुक्ला,जानकर दुखी हुए फैन

मुंबई : टीवी रिएलिटी शो बिग बॉस का सीजन 13 कई मायनों में सुपरहिट साबित हो रहा है और रोजाना कोई ना कोई नया विवाद आगे पढ़ें »

ऊपर