अयोध्या से जनकपुर के लिए निकलेगी भव्य राम बारात, शामिल हो सकते हैं प्रधानमंत्री मोदी

ram barat

अयोध्या : शीर्ष न्यायालय से राममंदिर के पक्ष में आए फैसले के बाद लोगों में काफी हर्ष और उल्लास है। वहीं विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) के संयोजन में धर्मयात्रा महासंघ के बैनर तले अयोध्या से जनकपुर (नेपाल) तक निकाली जाने वाली राम बारात इस वर्ष और भी भव्य रूप से निकाली जाएगी। जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित देश प्रमुख विशिष्ट व्यक्तियों के साथ ही नेपाल के राजपरिवार के शामिल होने की भी संभावना है।

21 नवंबर से 3 दिसंबर तक चलेगा राम विवाहोत्सव

श्रीराम विवाह आयोजन समिति के संयोजक एवं विहिप केंद्रीय मंत्री राजेंद्र सिंह पंकज ने बताया यह भव्य राम बारात 21 नवंबर को कारसेवकपुरम से निकाली जाएगी और विभिन्न पड़ावों से गुजरते हुए 28 नवंबर को जनकपुर पहुंचेगी। इसके बाद 29 नवंबर को दशरथ मंदिर में तिलकोत्सव और 30 नवंबर को कन्या पूजन के अलावा मटकोर का आयोजन होगा। पंकज ने बताया कि विवाहोत्सव से पहले रामलीला में धनुष यज्ञ का भी आयोजन होगा। फिर रात में विधिपूर्वक विवाह सम्पन्न होगा। 2 दिसंबर को कलेवा का आयोजना किया जाएगा। इसी बीच 108 निर्धन बालिकाओं का सामूहिक विवाह का आयोजित होगा। इसके बाद 3 दिसंबर को जनकपुर से बारात वापस अवध धाम आ जाएगी।

राम बारात हर पांचवें वर्ष निकलती है

पंकज ने बताया कि राम बारात के साथ 2 सुसज्जित रथ रहेंगे। जिस पर भगवान के स्वरूप विराजमान होंगे। इस वर्ष राम बारात में अयोध्या, हरिद्वार, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश के संत शामिल होंगे। साथ ही नेपाल के राज परिवार के भी शामिल होने की संभावना जतायी जा रही है। मालूम हो कि यह बारात हर पांचवें वर्ष निकलती है।

2004 से निकाली जा रही है राम बारात

वर्ष 2004 से राम बारात की जिम्मेदारी विहिप को मिली है। जिसके बाद यह बारात वर्ष 2009 और वर्ष 2014 में निकाली गई। अब वर्ष 2019 में यह निकाली जानी है। विहिप प्रवक्ता शरद शर्मा ने बताया कि कारसेवकपुरम से 21 नवंबर को प्रात: बारात यात्रा को श्रीरामजन्म भूमि न्यास अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास वैदिक मंत्रोचारण के साथ प्रस्थान कराएंगे। बारात में शामिल होने के लिए दूर दराज से संतों और रामभक्तों का आगमन आज से ही प्रारंभ हो गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सीएए और एनआरसी को लेकर मेयर ने बोला हमला

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : मेयर और मंत्री फिरहाद हकीम ने सीएए और एनआरसी को लेकर एक बार फिर केंद्र सरकार पर हमला बोला। रविवार को रक्तदान आगे पढ़ें »

ईस्ट वेस्ट मेट्रोः इस महीने शुरु होने की उम्मीदें बढ़ीं

नए जीएम ने मेट्रो परियोजना का किया निरीक्षण सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः साल्टलेक स्टेडियम से साल्टलेक सेक्टर-5 तक मेट्रो परियोजना के शुरू होने की उम्मीदें एक बार फिर आगे पढ़ें »

ऊपर