असम और बिहार में बाढ़ से  गंभीर हुए हालात, अब तक 94 लोगों की मौत

Floods in Assam-Bihar

नई दिल्‍ली : असम और बिहार समेत कई राज्यों में लगातार हो रही बारिश की वजह से लोगों का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। भारी बारिश के कारण दोनाें राज्यों में बाढ़ विकराल रूप ले चुका है। बाढ़ की चपेट में आने से दोनों राज्यों में करीब 94 लोगों की मौत हो चुकी है।

बिहार में बाढ़ से 67 की मौत

भारी बारिश और बाढ़ के कहर के कारण बिहार के 12 जिलों में करीब 46.83 लाख से अधिक लोग गंभीर रूप से प्रभावित हुए है। बाढ़ की चपेट में आने से यहां मरने वालों का आंकड़ा 67 पहुंच चुका है। बिहार के सीतामढ़ी और मधुबनी जिले में सबसे ज्यादा लोग मारे गए हैं।

असम में बाढ़ से गई 27 जानें

वहीं दूसरी और असम में भी भारी बारिश और बाढ़ की वजह से हालात बद से बदतर बने हुए हैं। यहां 29 जिलों में 57 लाख से ‌अधिक लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं। वहीं बाढ़ की चपेट में आने से 27 लोगों की मौत हो चुकी है। असम में भारी बारिश के कारण ब्रह्मपुत्र समेत उसकी सहायक नदियां उफान पर हैं। नदियों का जलस्तर बढ़ने से प्रदेश के गुवाहाटी समेत राज्य के कई जिलों में नदियां खतरे के निशाने पर है। मौसम विभाग ने यहां लगातार हो रही बारिश और बाढ़ जैसे हालात को देखते हुए कई राज्यों में रेड अलर्ट जारी किया है। इस आपदा से निपटने के लिए तथा राहत बचाव कार्यों के लिए केंद्र सरकार ने 251.55 करोड़ रुपये की मदद की घोषणा की है। साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लगातार बिगड़ते हालात को देखते हुए असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल से बात कर आश्वासन दिया है कि सरकार की ओर से हरसंभव मदद की जाएगी।

1.5 लाख से अधिक लोग घर से बेघर

असम में भारी बारिश और बाढ़ से करीब 57 लाख से अधिक लोग गंभीर रूप से प्रभावित हुए हैं। जिनमें करीब 1.50 लाख से अधिक लोगों को अपना घर छोड़ने पर मजबूर होना पड़ा है। यहां बाढ़ का मंजर ऐसा है कि ढुबरी जिले की जेल में पानी भर गया है। इस बात की पुष्टि ढुबरी के असिस्टेंट जेलर सीके हलोई ने की है। जेल में पानी भर जाने की वजह से यहां के पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) अनंत लाल ज्ञानी के आदेश पर 409 कैदियों को अस्थायी तौर पर गर्ल्स कॉलेज में स्‍थानांतरित किया गया है। प्रशासन की ओर से बेघर लोगों के लिए 427 राहत कैम्प और 392 राहत सामग्री वितरण केंद्र लगाए गए हैं।

बिहार में बाढ़ से स्थिति गंभीर

बाढ़ से बिहार का सीतामढ़ी जिला सबसे अधिक प्रभावित है और इसके बाद किशनगंज, पूर्णिया और कटिहार जिलों की हालत लगातार गंभीर बनी हुई है। बिहार के सीतामढ़ी की बात करें तों यहां अब तक 17 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं अररिया में 12, मधुबनी में 11, शिवहर में 9, पूर्णिया में 7, दरभंगा में 5, किशनगंज में 4 और सुपौल में 2 लोग बाढ़ की चपेट में आने से मारे गए हैं। बिहार के सीतामढ़ी की 176 पंचायतों में करीब 17 लाख से अधिक लोग सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं। वहीं अररिया जिले के 9 प्रखंड भी बाढ़ की चपेेट में आने से गंभीर रूप से प्रभावित हैं। यहां की 124 पंचायतें जलमग्न हो गईं हैं जिससे करीब 9.24 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं।

बता दें कि बिहार में अब तक करीब 1.14 लाख से अधिक लोगों ने 137 राहत शिविरों में पनाह ले रखी है। वहीं प्रशासन अपनी ओर से बाढ़ से निपटने के लिए हर संभव मदद में जुटी है। साथ ही बाढ़ प्रभावित जिलों में राष्ट्रीय आपदा राहत बल (एनडीआरएफ) और राज्य आपदा राहत बल (एसडीआरएफ) की 26 टीमें दिन-रात राहत बचाव कार्य में जुटी हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

current

कर्नाटक: सरकारी हाॅस्टल के 5 छात्रों की करंट लगने से हुई मौत

बेंगलुरू : कर्नाटक में हुए दर्दनाक हादसे में एक सरकारी हॉस्टल में करंट लगने से पांच छात्रों की मौत हो गई। घटना की सूचना पाकर आगे पढ़ें »

अनुच्छेद 370 हटाने पर कांग्रेस के स्टैंड से हुड्डा नाराज

पानीपत : जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के हटाए जाने पर कांग्रेस के स्टैंड से पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा नाराज चल रहे हैं। वे पार्टी के आगे पढ़ें »

ऊपर