दिल्ली हिंसा : दिल्ली हाईकोर्ट की सख्‍त टिप्पणी, एक और 1984 नहीं होने देंगे

courty

नई दिल्ली : दिल्ली में हो रही हिंसा को लेकर दिल्ली हाई कोर्ट ने बेहद सख्त टिप्पणी की है। दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा, हिंसा पर कड़े कदम उठाने की जरूरत है। दिल्ली में एक और 1984 नहीं होने देंगे। लोगों को भरोसा होना चाहिए कि वो जहां हैं, वहां सुरक्षित हैं। सुनवाई के दौरान कोर्ट में भाजपा नेता कपिल मिश्रा का वीडियो भी दिखाया गया। बता दें कि हिंसा पर कपिल मिश्रा के एक बयान के बाद हंगामा हो गया था।

जज ने इनसे पूछा कि क्या आपने वीडियो देखे हैं

बता दें कि जज ने सॉलिसिटर जनरल समेत एक पुलिस अधिकारी से पूछा कि क्या आपने वीडियो देखे हैं? इस पर सॉलिसिटर जनरल ने कहा कि मैंने नहीं देखा।, वहीं पुलिस अधिकारी ने कहा कि उन्होंने भी कपिल मिश्रा का वीडियो नहीं देखा है। इस पुलिस अधिकारी का नाम डीसीपी राजेश देव है। इसके बाद जज ने हाईकोर्ट में कपिल मिश्रा का वीडियो चलवाया। वीडियो चलने के बाद जस्टिस मुरलीधर ने कहा, ‘कपिल मिश्रा अपने नजदीक खड़े डीसीपी से बात कर रहे हैं।’

अमित शाह ने 24 घंटे में तीन बैठकें की

बता दें‌ कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली के दंगों पर काबू पाने के लिए गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार रात तक 24 घंटे के अंदर 3 बैठकें कीं। दिल्ली के नए विशेष आयुक्त (कानून व्यवस्था) एसएन श्रीवास्तव के साथ देर रात तक तीन घंटे बैठक चली। इसके बाद एनएसए अजित डोभाल हालात का जायजा लेने के लिए सीलमपुर पहुंच गए। दंगाग्रस्त इलाकों भजनपुरा, घोंडा, यमुना विहार, चांदबाग, करावल नगर सहित कई इलाकों में मंगलवार तड़के ही हिंसा शुरू हो गई थी। गुरु तेग बहादुर अस्पताल में 7 बजे से घायल पहुंचने लगे थे। हर 10-15 मिनट में गोली या पत्थरों से घायल कोई न कोई शख्स पहुंचता रहा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोरोना से हुए नुकसान को कम करने के लिए सरकार जल्द नए राहत पैकेजों की घोषणा करेगी

नई दिल्ली : कोरोना के कारण हुए लॉक डाउन के कारण देश की अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान हुआ है। वित्त मंत्रालय लगातार राहत पैकेज पर आगे पढ़ें »

आईपीएल रद्द हुआ तो कई खिलाड़ी डिप्रेशन में आ सकते हैं : पैडी अपटन

नयी दिल्‍ली : कोरोनावायरस के कारण इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) समेत दुनियाभर में जुलाई तक होने वाले तमाम खेल टूर्नामेंट्स को टाल या रद्द कर आगे पढ़ें »

ऊपर