दिल्ली हिंसा : यूपी पुलिस की तर्ज पर अब दिल्ली पुलिस भी दंगाइयों से वसुलेगी जुर्माना

police

दिल्ली : उत्तर प्रदेश पुलिस की तर्ज पर अब दिल्ली पुलिस ने भी दंगाइयों पर कार्रवाई करने का फैसला किया है। दरअसल, उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुए दंगों के दौरान सार्वजनिक और निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वाले दंगा‌इयों से पुलिस ने जुर्माना वसुलने या उनकी संपत्ति कुर्क करने का फैसला किया है। बता दें कि इस योजना पर काम कर रहे पुलिस के अधिकारियों ने नाम न छापने की शर्त पर यह जानकारी दी। एक अधिकारी के मुताबिक, एसआईटी और लोकल पुलिस को इस संबंध में पहले ही निर्देश जारी किए जा चुके हैं कि नुकसान का आंकलन करने के लिए नगर निगम अधिकारियों और दिल्ली सरकार के साथ समन्वय स्‍थापित करें।

5 हजार किलो ईंट-पत्थर हटाए गए

बताया जा रहा कि एसआईटी को उन लोगों की पहचान करने का काम सौंपा गया है जिन्होंने उत्तर-पूर्वी दिल्ली में दंगों के दौरान आगजनी, लूटपाट या संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया था। पुलिस को शक है कि आपराधिक रिकॉर्ड वाले लोगों सहित कई स्थानीय अपराधियों ने जाफराबाद, कर्दमपुरी, करावल नगर, मौजपुर, भजनपुरा और अन्य क्षेत्रों में स्थिति का फायदा उठाया। बता दें कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली में चार दिनों में जमकर पत्‍थरबाजी हुई। साफ-सफाई में लगभग पांच हजार किलो ईट-पत्‍थर हटाए गए हैं।

1000 दंगाइयों की पहचान

गौरतलब है कि दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को बताया कि उन्होंने कम से कम 1000 दंगाइयों की पहचान की है। वहीं, 630 लोगों को हिरासत में लिया है या गिरफ्तार किया है। दिल्ली पुलिस के मुताबिक, रविवार और बुधवार के बीच दंगों में सैकड़ों करोड़ की संपत्ति नष्ट हो गई है। हालांकि, वास्तविक नुकसान का आंकलन करने में समय लगेगा। पुलिस ने कहा कि उन्होंने पूर्वी दिल्ली नगर निगम और पावर डिस्कॉम बीएसईएस से स्थिति बहाल करने और दंगा प्रभावित क्षेत्र में जलाए गए वाहनों के मलबे और ढेर को साफ करने के लिए भी मदद मांगी है।

यूपी सरकार ने 400 दंगाइयों को भेजा था नोटिस

उल्‍लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बीते साल दिसंबर 2019 में राज्य में हुए सीएए विरोधी प्रदर्शनों के दौरान नुकसान की भरपाई के लिए दंगाइयों के रूप में पहचाने जाने वाले कम से कम 400 लोगों को नोटिस भेजे थे। शीर्ष न्यायालय की पिछली सिफारिशों और 2011 के इलाहाबाद उच्च न्यायालय के फैसलों ने इसे सही ठहराया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पहले सीएम ने लगायी फटकार, फिर किया दुलार

पुरुलिया : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जिले के हुटमुड़ा मैदान में एक विशाल जनसभा को संबोधित किया। उनके संबोधन के दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का आगे पढ़ें »

धुपगुड़ी में दर्दनाक हादसा : डम्पर के नीचे दबकर 14 लोगों की मौत

सन्मार्ग संवाददाता, धुपगुड़ी/कोलकाता : मंगलवार की रात धुपगुड़ी में हुए दर्दनाक हादसे में कम से कम 14 लोगों की मौत हो गयी। पत्थर ढोने वाले आगे पढ़ें »

ऊपर