नागरिकता बिल : नॉर्थ-ईस्ट में छात्रों का प्रदर्शन हुआ उग्र, 5000 अर्द्धसैनिक बल तैनात

assam

गुवाहटी : नॉर्थ-ईस्ट राज्यों में नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ बड़े स्तर पर विरोध प्रदर्शन जारी है। असम में हजारों की संख्या में छात्रों ने विधानसभा के तरफ मार्च निकाला। इसी बीच राज्य सचिवालय के निकट छात्रों के एक बड़े समूह और पुलिस के बीच झड़प हुई। भारी मात्रा में छात्र सचिवालय की ओर जाते दिखे और एक अन्य समूह गणेशगुरी क्षेत्र तक जा पहुंचा जहां से सचिवालय केवल 500 मीटर की दूरी पर है। राज्यों की व्यवस्‍था को काबू में रखने के लिए केंद्र ने बुधवार को असम सहित पूर्वोत्तर राज्यों में अर्द्धसैनिक बल के 5000 जवानों को विमान से भेजा है। अधिकारियों ने बताया कि संसद में नागरिकता (संशोधन) विधेयक पर चर्चा के खिलाफ वहां हो रहे विरोध-प्रदर्शन के सिलसिले में कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए जवानों को यहां भेजा गया है।

छात्रों पर लाठीचार्ज

गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि छात्रों ने जीएस रोड पर अवरोधक तोड़ा जिसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज शुरु कर दिया। इतना ही नहीं विद्यार्थियों पर आंसू गैस के गोले भी छोड़े गए जिसे छात्रों ने वापस उठाकर पुलिसकर्मियों पर उठाकर फेंका। विद्यार्थियों ने बताया कि लाठीचार्ज के दौरान कई छात्र गंभीर रुप से घायल हो गए। छात्रों ने कहा कि सर्बानंद सोनोवाल की सरकार क्रूर है और कैब के वापस लिए जाने तक हम किसी दबाव में नहीं आएंगे। उधर डिब्रूगढ़ जिले में प्रदर्शनकारियों की झड़प पुलिस से हुई जिसमें एक पत्रकार घायल हो गया।

कश्मीर से वापस बुलाए गए सैनिक

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार करीब 2000 जवानों(20 कंपनियां) को कश्मीर से वापस बुलाया गया है। कश्मीर में धारा 370 हटने और दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांटने के पहले ही केंद्र के आदेश पर वहां जवान तैनात कराए गए थे। अधिकारियों ने बताया कि बाकी बची 30 कंपनियों को बाकी दूसरे जगहों से हटाकर पूर्वोत्तर राज्यों में भेजा गया है। इनमें केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ), सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) और सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) के जवान शामिल हैं।

ट्रेनें हुई रद्द

नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन को देखते हुए पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे ने बुधवार को कई ट्रेनें रद्द कर दी। राज्य से जाने वाली ट्रेनों को रिशेड्यूल किया गया। लगभग 14 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है और कुछ ‌के परिचालन में गड़बड़ी का संदेह है। आठ ट्रेनों को पूर्ण रुप से ठप कर दिया गया है और बाकियों को गंतव्य स्थान से पहले ही रोक दिया गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अनअकैडमी, ड्रीम11 ने आईपीएल टाइटल प्रायोजक के लिये दस्तावेज सौंपे

नयी दिल्ली : शिक्षा प्रौद्यौगिकी कंपनी ‘अनअकैडमी’ और फंतासी स्पोर्ट्स मंच ‘ड्रीम11’ ने इस साल चीनी मोबाइल फोन कंपनी वीवो की जगह इंडियन प्रीमियर लीग आगे पढ़ें »

धोनी की अगुवाई में सीएसके खिलाड़ी आईपीएल शिविर के लिए चेन्नई पहुंचे

चेन्नई : भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी और चेन्नई सुपरकिंग्स के टीम के उनके साथी खिलाड़ी इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आगे पढ़ें »

ऊपर