मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने की गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात

Mamata Banerjee meets Amit Shah

नई दिल्ली : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। दोनों नेताओं के बीच मुलाकात गृह मंत्रालय में हुई। इस दौरान ममता ने असम में राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के मुद्दे पर चर्चा की। बता दें कि इससे पहले ममता बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की थी। मुलाकात के दौरान उन्होंने पीएम को जन्मदिन की बधाई दी, इसके साथ ही मिठाई और कुर्ता भेंट किया और साथ ही पीएम को बंगाल आने का न्योता भी दिया।

एनआरसी मुद्दे पर हुई बातचीत

शाह से मुलाकात के बाद ममता ने संवाददाताओं से कहा कि केन्द्र और राज्य को एक साथ मिलकर काम करना एक संवैधानिक जिम्मेदारी है। ममता ने कहा कि शाह से बातचीत के दौरान उन्होंने असम में की गई एनआरसी की प्रक्रिया का मुद्दा उठाया और इस बारे में उन्हें एक ज्ञापन दिया। उन्होंने कहा कि असम में जिन 19 लाख लोगों का नाम रजिस्टर में शामिल नहीं किया गया है। उनमें हिन्दी भाषी, बंगला भाषी और गोरखा शामिल हैं। कई वास्तविक मतदाताओं के नाम भी इस रजिस्टर में नहीं हैं, जिसके बाद उनके जीवन में इससे अनिश्चितता आ गयी है।

बंगाल में एनआरसी की जरूरत नहीं

ममता बनर्जी ने आगे कहा कि गृहमंत्री शाह के साथ पश्चिम बंगाल में एनआरसी मुद्दे पर बातचीत हुई, लेकिन इस मामले पर उन्होंने कुछ नहीं कहा। इस दौरान दोनों के बीच बंगाल का नाम बदलने के विषय पर भी बातचीत हुई। गौरतलब है कि गृहमंत्री बनने के बाद पहली बार मुख्यमंत्री ने शाह से मुलाकात की।

शाह से मिलने की इच्छा जानकर लगी अटकलें

गौरतलब है कि बनर्जी ने गृह मंत्री शाह से मिलने की इच्छा ऐसे वक्त जताई है जब सीबीआई कोलकाता के पूर्व पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के खिलाफ हथौड़ा चला रही है। दरअसल, शारदा चिटफंड मामले में कोलकाता के पूर्व पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार का पता लगाने के लिए सीबीआई ने एक विशेष टीम का गठन किया है। साथ ही उनका पता लगाने के लिए सीबीआई कई जगहों पर छापेमारी भी कर रही है। सूत्रों के मुताबिक, राजीव कुमार को तीन बार समन भेजा गया है। वो अब तक हाजिर नहीं हुए हैं।

15 महीने के बाद मोदी से की मुलाकात
इससे पहले बुधवार को राजनीतिक अटकलों के बीच 15 महीने के अंतराल के बाद बनर्जी ने प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात करते हुए राज्य में कुछ रुकी हुई परियोजनाओं को पुनर्जीवित करने की अपील की। प्रधानमंत्री के साथ बैठक को अच्छा बताते हुए ममता ने कहा कि राज्य का नाम बदलने से संबंधित उनका एजेंडा सबसे ऊपर है। उन्होंने कहा, “हमने पश्चिम बंगाल का नाम बदलकर बांग्ला करने पर चर्चा की और उन्होंने इसके बारे में कुछ करने का वादा भी किया है।” इसके अलावा बैठक के दौरान रेलवे और खनन से संबंधित रुकी हुई परियोजनाओं व कुछ सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयों के विनिवेश के संबंध में भी बातचीत की गई।

शेयर करें

मुख्य समाचार

‘अम्फान’ से सबक लेकर आधारभूत संरचना को बेहतर करें, आपदा से निपटने पर ध्यान दें : एनडीआरएफ प्रमुख

कोलकाता : एनडीआरएफ के प्रमुख एस एन प्रधान ने कहा है कि पश्चिम बंगाल और ओडिशा के कुछ हिस्सों में तबाही मचाने वाले चक्रवात ‘अम्फान’ आगे पढ़ें »

रियल एस्टेट सेक्टर को बड़े पैकेज की जरूरत, पीएम को पत्र लिखकर रखी मांगें

नई दिल्ली : कोरोना महामारी से चरमराई अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए भारत सरकार और आरबीआई ने औद्योगिक सेक्टर्स के लिए कई अहम् आगे पढ़ें »

ऊपर